क्राइम न्यूज़

यूपी: पत्नी के प्रेमी को मरवाने तांत्रिक के पास गए पति की हत्या, यूं खुला राज

रंजय सिंह
  • कानपुर ,
  • 21 अगस्त 2021,
  • अपडेटेड 11:29 PM IST
  • 1/8

यूपी के कानपुर में एक पति को अपनी पत्नी के दूसरे शख्स के साथ संबंध का शक था. इस शक में उसने तांत्रिको का सहारा लिया, ताकि पत्नी के प्रेमी को रास्ते से हटाया जा सके. लेकिन तांत्रिक के चक्कर में पति की ही हत्या हो गई. आइए जानते हैं पूरा मामला..

  • 2/8

तांत्रिक के यहां आने जाने के दौरान नीरज दीक्षित की मुलाकात शैलेंद्र नाम के शख्स से हुई. शैलेंद्र अपने भाई के लिए तांत्रिक के पास आता था. कुछ ही दिन में शैलेंद्र और नीरज की दोस्ती हो गई.

  • 3/8

इस बीच शैलेंद्र ने नीरज से यह कहकर 75 हजार रुपये ले लिए कि तांत्रिक पूजा करके उसकी पत्नी के प्रेमी की हत्या करवा  देगा. लेकिन कुछ दिनों बाद नीरज ने जब शैलेंद्र से कहा कि अभी तक कुछ नहीं हुआ है तो दोनों के बीच मनमुटाव होने लगा. 

  • 4/8

इसके बाद शैलेंद्र ने नीरज को हमीरपुर में बड़े तांत्रिक से मिलाने की बात कही. नीरज राजी हो गया उसके साथ चल दिया. लेकिन इस दौरान शैलेंद्र ने अपने दोस्तों धर्मेंद्र और श्यामू के साथ मिलकर नीरज की हत्या कर दी. 

  • 5/8

फिलहाल पुलिस ने दो आरोपी शैलेंद्र और धर्मेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि श्यामू अभी फरार है. 13 अगस्त को फजलगंज से लापता हुए नीरज का शव 17 अगस्त को हमीरपुर के जंगलो में मिला था. 

  • 6/8

मामले में कानपुर के एडीसीपी अनिल कुमार ने बताया कि नीरज को अपनी पत्नी के अवैध संबंध होने का शक था. इसके लिए वह एक तांत्रिक के यहां महाराजपुर जाता था. वहां उसकी मुलाक़ात शैलेंद्र से हो गई, जो कि अपने भाई के लिए तांत्रिक के यहां आया था. 

  • 7/8

दोनों में दोस्ती हो गई इसके बाद शैलेंद्र ने नीरज को बिधनू के एक तांत्रिक से मिलवाया. उसने नीरज से तांत्रिक के नाम पर 75 हजार रुपया ले लिया. इसके बाद जब नीरज ने उससे कहा मेरे पैसे दो अभी कोई काम नहीं हुआ तो शैलेंद्र 13 तारीख को नीरज बड़े तांत्रिक से मिलाने के बहाने हमीरपुर ले गया, जहां उसने साथ धर्मेंद्र और श्यामू के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी. 

  • 8/8

पुलिस के मुताबिक, हत्यारों ने घटना को छिपाने के लिए तीन तीन जिलों का प्रयोग किया और वारदात को नया मोड़ देने की कोशिश की थी. आरोपियों ने कानपुर के फजलगंज से नीरज को बहाने से उठाया से फिर तांत्रिक से मिलाने के बहाने ले जाकर उसकी हत्या हमीरपुर में की. हत्या के बाद उसकी बाइक फतेहपुर जिले में लाकर जला दी. हालांकि कॉल डिटेल से सभी की पोल खुल गई.