क्राइम न्यूज़

झारखंडः कभी छात्रा को भेजता था अश्लील मैसेज, कभी करता था छेड़खानी, छात्रों ने प्रोफेसर को ऐसे सिखाया सबक

सत्यजीत कुमार
  • 06 सितंबर 2021,
  • अपडेटेड 7:33 PM IST
  • 1/8

झारखंड के चाईबासा में एक प्रोफेसर ने गुरु शिष्या के पवित्र रिश्ते को शर्मसार कर दिया. इस मामले में पुलिस ने कोल्हान यूनिवर्सिटी के एक प्रोफ़ेसर को गिरफ्तार कर लिया है. आरोप है कि उम्रदराज प्रोफ़ेसर अपनी एक छात्रा को मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रहा था. प्रोफ़ेसर छात्रा को अश्लील मैसेज भेजकर उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित करता था. यही नहीं मौका पाकर अकेले में छात्रा के साथ वह छेड़छाड़ भी करने लगता था. 

(चाईबासा से जय कुमार तांती का इनपुट)

  • 2/8

इस मामले से पर्दा तब उठा जब छात्रा ने प्रोफ़ेसर के खिलाफ छात्र संघ से शिकायत कर दी. आरोप यह भी है कि प्रोफ़ेसर सिर्फ एक छात्रा से नहीं बल्कि यूनिवर्सिटी की कई छात्राओं को शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा था. उम्र के लिहाज से प्रोफ़ेसर वृद्धा अवस्था में है, लेकिन उसके द्वारा छात्रा को भेजे गए गंदे मैसेज देख कोई भी कह सकता है कि कोल्हान विश्वविद्यालय के दर्शनशास्त्र विभाग के एचओडी डॉ केके अखौरी मानसिक विकृति के शिकार हैं. वे बेटी या पोती की उम्र की छात्राओं को भी परेशान करने से बाज नहीं आते. 

  • 3/8

कोल्हान विश्वविद्यालय के दर्शनशास्त्र विभाग के एचओडी डॉ केके अखौरी द्वारा छात्रा को अश्लील मैसेज भेजने का मामला प्रकाश में आया है. छात्रा ने कोल्हान विश्वविद्यालय के छात्र संघ को इसकी सूचना दी. जिसके बाद छात्र संघ ने आरोपी एचओडी के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया. सोमवार को एक बजे एचओडी डॉ केके अखौरी के साथ जमकर धक्का-मुक्की की गई और उनकी पिटाई भी कर दी गई. 

  • 4/8

हालांकि इस धक्का-मुक्की में उन्हें किसी तरह की गंभीर चोट नहीं आई है. छात्र-छात्राएं उनके खिलाफ नारेबाजी करने लगे. शिकायत करने वाली छात्रा ने कहा कि लगातार कई दिनों से एचओडी उसे अश्लील मैसेज व्हाट्सअप से भेज रहे थे. विरोध करने के बाद भी वे नहीं मान रहे थे. आखिरकार उसे इस मामले को लेकर छात्र संघ के प्रतिनिधि के पास जाना पड़ा. 
 

  • 5/8

मामले की जानकारी मिलने पर प्रशासनिक भवन से डीएसडब्ल्यू डॉ एससी दास, प्रॉक्टर डॉ एमए खान, सीसीडीसी डॉ मनोज महापात्र समेत कई पदाधिकारी पीजी विभाग के दर्शनशास्त्र विभाग पहुंचे. जिसके बाद बीच-बचाव कर एचओडी केके अखौरी को विद्यार्थियों के चंगुल से छुड़ाया गया. पीजी विभाग में एचओडी को बैठाकर विश्वविद्यालय पदाधिकारियों के समक्ष कागजी प्रक्रिया की गयी. 

  • 6/8

इस दौरान विभागाध्यक्ष ने छात्रा के समक्ष तथा छात्र प्रतिनिधि के सामने माफी मांगी. जिसके बाद छात्र प्रतिनिधियों ने आज एचओडी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. काफी हंगामे के बीच मुफ्फसिल थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी प्रोफ़ेसर को गिरफ्तार कर अपने साथ थाने ले गयी, जहां उससे पूछताछ जारी है. 

  • 7/8

छात्रा ने कुछ दिन पूर्व छात्र संघ के सामने एचओडी की शिकायत की थी. जिसके बाद मामले की जांच की गई. जांच पड़ताल करने के बाद पता चला कि मामला सही है. मैसेज का स्क्रीन शॉर्ट भी है. छात्र संघ की मांग है कि इस तरह के शिक्षक पर कार्रवाई की जाए. साथ ही विभाग से हटा दिया जाए. 

  • 8/8

पीड़ित छात्रा ने बताया कि परीक्षा संबंधी परेशानी को लेकर वह प्रोफ़ेसर के पास गई थी. लेकिन प्रोफेसर की गंदी नजर उस पर थी. वह उसके साथ यूनिवर्सिटी के कमरे में अश्लील हरकत करता था और फोन पर अश्लील मैसेज कर मानसिक रूप से प्रताड़ित करता था.