पुलिस के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, जेवर कांड का एक और आरोपी गिरफ्तार

जेवर गैंगरेप कांड में पुलिस को एक और सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने साल 2017 में जेवर क्षेत्र में संगीन घटना को अंजाम देने वाले एक और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

जेवर कांड का आरोपी (फोटो- अरविंद ओझा)
aajtak.in/अरविंद ओझा
  • नोएडा,
  • 02 जुलाई 2019,
  • अपडेटेड 12:32 PM IST

जेवर गैंगरेप कांड में पुलिस के हाथ एक और सफलता लगी है. पुलिस ने साल 2017 में जेवर कांड में शामिल एक और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. एसटीफ नोएडा ने बीती रात 2017 में हुए सनसनीखेज जेवर कांड में शामिल कुख्यात अपराधी और 50,000 रुपये का इनामी मोनू बावरिया को थाना जेवर  क्षेत्र से गिरफ्तार किया है.

अपराधी के पास से बाइक, 1 तमंचा 315 बोर और कारतूस बरामद हुआ है. दरअसल इस कांड में सिकंदरबाद रोड पर कार का टायर पंक्चर कर रोक लिया गया और उसमें बैठी चार महिलाओं के साथ गैंगरेप किया गया. इस घटना का विरोध करने वाले परिवार के एक सदस्य की गोली मारकर हत्या कर दी गई और लूटपाट भी की गई.

क्या था जेवर कांड

दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा के जेवर थाना इलाके में 24 मई 2017 की रात घटी इस सन्न कर देने वाली घटना की गूंज पूरे देश में सुनाई दी. जेवर थाना क्षेत्र के सबौता गांव के पास कार से जा रहे परिवार को 8 हथियारबंद बदमाशों ने बंधक बना लिया. उनसे लूटपाट की और विरोध करने पर परिवार के मुखिया की गोली मारकर हत्या कर दी. वहीं परिवार की चार महिलाओं के साथ गैंगरेप किया गया. इस मामले में पुलिस की लापरवाही भी सामने आई क्योंकि घटना के 10 दिन बीत जाने के बाद भी कोई आरोपी पकड़ा नहीं जा सका. यहां तक कि पुलिस के रवैये से परेशान 3 पीड़िताओं ने खुदकुशी करने की भी कोशिश की.

इस बीच पीड़ित परिवार ने पुलिस से अपने सुरक्षा की मांग भी की. आखिरकार पुलिस 23 जुलाई 2017 को चार आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफल रही. पुलिस के मुताबिक, बदमाश बावरिया गैंग के सदस्य हैं. 27 अगस्त को जेवर कांड में शामिल एक और कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार कर लिया गया था. वहीं कई आरोपी फरार थे. पुलिस ने फरार आरोपियों पर इनाम भी घोषित कर रखा था.

Read more!

RECOMMENDED