जुलाई में कम हुआ GST कलेक्शन, बिजली खपत में मामूली बढ़त

जुलाई महीने में गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) का कलेक्शन कम रहा है. वहीं, बिजली खपत में मामूली सुधार हुआ है लेकिन पिछले साल के मुकाबले अब भी गिरावट है.

महंगाई की मार बरकरार
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 01 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 6:12 PM IST

  • जुलाई में 87,422 करोड़ रुपये का जीएसटी कलेक्शन हुआ
  • बिजली खपत में मामूली सुधार, बीते साल से अब भी कम

नए महीने के पहले दिन देश की इकोनॉमी से जुड़े दो अहम आंकड़े जारी हुए हैं. पहला आंकड़ा जुलाई के जीएसटी कलेक्शन का है तो वहीं दूसरा डाटा बता रहा है कि बीते महीने में बिजली खपत की क्या स्थिति रही.

जीएसटी कलेक्शन में गिरावट

सरकारी आंकड़े के मुताबिक जीएसटी कलेक्शन जून के 90,917 करोड़ रुपये से घट कर जुलाई में 87,422 करोड़ रुपये पर आ गया. हालांकि, जुलाई का कलेक्शन मई के 62,009 करोड़ रुपये और अप्रैल के 32,294 करोड़ रुपये से अधिक है.

वित्त मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, ‘‘जुलाई 2020 में सकल जीएसटी राजस्व कलेक्शन 87,422 करोड़ रुपये रहा, जिसमें केंद्रीय जीएसटी 16,147 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी 21,418 करोड़ रुपये और एकीकृत जीएसटी 42,592 करोड़ रुपये रहा. एकीकृत जीएसटी में वस्तुओं के आयात पर जुटाए गए 20,324 करोड़ रुपये का टैक्स शामिल है.’’

क्यों आई गिरावट

मंत्रालय ने कहा कि जुलाई का जीएसटी कलेक्शन जून की तुलना में कम है, लेकिन यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि जून में बड़ी संख्या में करदाताओं ने फरवरी, मार्च और अप्रैल 2020 से संबंधित टैक्स का भुगतान किया था. बता दें कि टैक्सपेयर्स को कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर फरवरी, मार्च और अप्रैल में जीएसटी भुगतान से राहत प्रदान की गयी थी.

बिजली खपत में मामूली बढ़त

आर्थिक गतिविधियां बढ़ने से जुलाई में बिजली की खपत में मामूली बढ़त दर्ज की गई और यह 113.48 अरब यूनिट रही. वहीं, पिछले साल जुलाई में बिजली की खपत 116.48 अरब यूनिट रही थी. जाहिर सी बात है कि अब भी स्थिति सामान्य नहीं है. लेकिन उम्मीद जाहिर की जा रही है कि अगस्त में बिजली की खपत अपने सामान्य स्तर पहुंच जाएगी.

ये पढ़ें—तीन साल में ही गहरे संकट में फंसा GST

आपको बता दें कि सरकार ने कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए 25 मार्च, 2020 से देशभर में लॉकडाउन लगाया था. इससे बिजली की कॉमर्शियल और इंडस्ट्रीयल डिमांड और खर्च में भारी गिरावट आई थी. जून में बिजली की खपत 10.93 प्रतिशत घटकर 105.08 अरब यूनिट रही थी. इसी तरह देश में मई में बिजली की खपत 14.86 प्रतिशत और अप्रैल में 23.21 प्रतिशत घटी थी.

Read more!

RECOMMENDED