ऑफिस में गंदे व्यवहार को सही ठहराते हैं भारतीय कर्मचारी: सर्वे

उच्च नैतिक मानदंडों को प्रोत्साहित करने में विसंगति तथा अस्पष्टता तथा अनुपालन कार्यक्रमों की अपर्याप्त समझने के चलते कर्मचारी कार्यस्थल पर अनैतिक कार्यव्यवहार को उचित ठहराते हैं.

ऑफिस में गंदे व्यवहार को सही ठहराते हैं भारतीय
राहुल मिश्र
  • नई दिल्ली,
  • 15 जून 2017,
  • अपडेटेड 4:13 PM IST

अच्छे व्यवहार और आदर्श मानदंड़ो को अपर्याप्त समझने के चलते कर्मचारी अॉफिस में गलत कार्यव्यवहार को उचित ठहराते हैं. यह बात एक रिपोर्ट में सामनें आया है. E Y के एशिया प्रशांत धोखाधड़ी सर्वेक्षण में यह निष्कर्ष निकाला गया है.

भारतीय सीनियर के गलत व्यवहार को करते अनदेखा

इसके अनुसार 78 प्रतिशत भारतीय प्रतिभागियों ने कहा कि भ्रष्टाचार व रिश्वतखोरी बड़े पैमाने पर व्याप्त है.इसके साथ ही 57 प्रतिशवहात प्रतिभागियों के अनुसार राजस्व लक्ष्यों को हासिल करने के लिए वरिष्ठ प्रबंधन अधिकारी कर्मचारियों के अनैतिक व्यवहार की वह अनदेखी करते हैं .

गलत व्यवहार पर कम्पनी नही करती कार्यवाही

इसी तरह सर्वेक्षण में शामिल पांच में से हर एक प्रतिभागी ने कहा कि नैतिक मानकों व नियमों के उल्लंघन से जुड़े मामलों की कंपनी द्वारा कोई जांच नहीं की जाती है. इस पर भी 58 प्रतिशत भागीदारों ने कहा है कि वे उन कंपनियों में काम करना चाहते हैं जो कि धोखाधड़ी या रिश्वतखोरी के बड़े मामले में फंसी हैं.

फर्म ने अपने सर्वेक्षण में सलाह दी है कि भारत जैसे विकासशील देशों में कंपनियों को निगमित संचालन को लेकर अपने रुख पर पुनर्वचिार करना होगा और व्यक्तिगत कदाचार के खिलाफ कार्रवाई करनी होगी.

Read more!

RECOMMENDED