मई से ऑनलाइन निकालिए पीएफ का पैसा और पेंशन

देश में पांच करोड़ से अधिक पीएफ धारकों (प्रॉविडेंट फंड) और पेंशनभोगियों के लिए खुशखबरी है. मई से उन्हें पीएफ से निकासी और पेंशन संबंधी कामकाज के लिए पीएफ ऑफिस का चक्कर नहीं लगाना होगा. इन सभी काम को ऑनलाइन किया जा सकेगा.

मई से ऑनलाइन कीजिए पीएफ का काम
राहुल मिश्र
  • ,
  • 20 फरवरी 2017,
  • अपडेटेड 3:37 PM IST

देश में पांच करोड़ से अधिक पीएफ धारकों (प्रॉविडेंट फंड) और पेंशनभोगियों के लिए खुशखबरी है. मई से उन्हें पीएफ से निकासी और पेंशन संबंधी कामकाज के लिए पीएफ ऑफिस का चक्कर नहीं लगाना होगा. इन सभी काम को ऑनलाइन किया जा सकेगा.

मौजूदा समय में प्रॉविडेंट फंड ऑफिस को प्रति वर्ष लगभग 1 करोड़ एप्पलीकेशन पीएफ विड्रॉवल सेटेलमेंट के लिए मिलती है और इस काम को मैनुअली किया जाता है. इसके चलते पीएफ धारकों और पेंशनभोगियों को क्लेम मिलने का लंबे समय तक इंतजार करना पड़ता है.

प्रॉविडेंट फंड ऑफिस के मुताबिक, विभाग के सभी फील्ड ऑफिस को ऑनलाइन माध्यम से जोड़ने का काम तेजी से चल रहा है और उम्मीद है कि अप्रैल के अंत तक इस काम को पूरा कर लिया जाएगा. ईपीएफओ कमिश्नर वीपी जॉए ने बताया कि मई से विभाग फंड से निकासी और पेंशन सेटेलमेंट के लिए एप्पलीकेशन ऑनलाइन माध्यम से ले सकेगा.

ईपीएफओ की कोशिश है कि वह सभी तरह के क्लेम को एप्पलीकेशन प्राप्त होने के कुछ ही घंटों में पूरा कर दे. मिलास के तौर पर विभाग की कोशिश है कि पीएफ से निकासी की एप्पलीकेशन मिलने के 3 घंटे के अंदर वह फैसला ले सके.मौजूदा समय में ईपीएफओ नियम के मुताबिक एप्पलिकेशन मिलने के 20 दिनों के अंदर विभाग को क्लेम सेटेलमेंट करना होता है.

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से जारी डिजिटाइजेशन की कवायद के चलते 50 से ज्यादा पीएफ ऑफिस को सेंट्रल सर्वर से जोड़ने का काम किया जा चुका है. अब विभाग की कोशिश है कि वह अप्रैल के अंत तक सभी 123 ऑफिस को सेंट्रल सर्वर से जोडने का काम पूरा कर ले.

इससे पहले ईपीएफओ ने अपने सभी खाताधराकों को अनिवार्य रूप से 31 मार्च तक अपने पीएफ खाते को आधार नंबर से जोड़ने के लिए कहा है. इस कवायद के बाद ईपीएफ अकाउंट, पेंशन अकाउंट, बैंक अकाउंट, आधार नंबर, पैन नंबर और खाताधारक का मोबाइल नंबर लिंक हो जाएगा और वह ईपीएफ अकाउंट पूरी तरह से ऑनलाइन सेवा के लिए तैयार हो जाएगा.

Read more!

RECOMMENDED