बिज़नेस न्यूज़

दिल्ली में बीयर शॉर्टेज... अगले कई महीने तक बार-रेस्टोरेंट में रहेगी दिक्कत, जानिए कारण

aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 26 मई 2022,
  • अपडेटेड 10:54 AM IST
  • 1/5

इस साल दिल्ली (Delhi) समेत पूरा उत्तर भारत (North India) ऐतिहासिक गर्मियों (Heat Wave) का सामना कर रहा है. इस सप्ताह भले ही लोगों को भयानक हीट वेव से थोड़ी राहत मिली, लेकिन जल्दी ही फिर से चिलचिलाती गर्मी का दौर लौटने वाला है. इस बीच दिल्ली में बीयर की कमी (Beer Shortage) की स्थिति पैदा हो गई है. चिलचिलाती गर्मी के बीच ये शॉर्टेज बीयर प्रेमियों को दिक्कतों का सामना करने पर मजबूर कर रही है.

  • 2/5

दरअसल, गर्मियां बढ़ने के कारण दिल्ली के पड़ोसी राज्यों में भी बीयर की डिमांड बढ़ी है. इस कारण पड़ोसी राज्यों के बोटलर्स दिल्ली को कम सप्लाई दे पा रहे हैं. पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों का कहना है कि पिछले साल नवंबर में नई एक्साइज पॉलिसी लागू होने के बाद प्राइवेट रिटेल वेंडर्स ग्राहकों को शानदार ऑफर दे रहे हैं. इस कारण बीयर समेत सभी प्रकार के अल्कोहलिक पेय पदार्थों की मांग बढ़ी है. बीयर की कमी के पीछे एक वजह ये भी है.

  • 3/5

इंडियन अल्कोहलिक बेवरेज कंपनीज के डाइरेक्टर जनरल विनोद गिरी का कहना है कि दिल्ली में बीयर की शॉर्टेज के कई कारण हैं. पहला कारण तो ये है कि इस बार गर्मियां जल्दी आ गई हैं. दूसरा बड़ा कारण ये है कि मैन्यूफैक्चरर्स को राजस्थान, हरियाणा और पंजाब जैसे पड़ोसी राज्यों ने पहले लोकल डिमांड को पूरा करने के लिए कह दिया है. इस कारण ये मैन्यूफैक्चरर्स दिल्ली व अन्य बाजारों को सप्लाई करने से पहले लोकल मार्केट में उपलब्धता सुनिश्चित कर रहे हैं.

  • 4/5

एक्साइज डिपार्टमेंट के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि गर्मियों में दिल्ली में हर बार बीयर की शॉर्टेज होती है. इस बार उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों से कम सप्लाई के चलते स्थिति अधिक गंभीर है. उन्होंने कहा, 'देश के उत्तरी हिस्सों में इस मौसम में बीयर की डिमांड बढ़ जाती है. दिल्ली में कोई मैन्यूफैक्चरिंग फैसिलिटी नहीं है. इस कारण गर्मियों में डिमांड बढ़ने पर दिल्ली को शॉर्टेज का सामना करना पड़ जाता है, क्योंकि कंपनियों के ऊपर लोकल डिमांड को पूरा करने की भी जिम्मेदारी होती है.'

  • 5/5

गिरी ने बताया कि इस साल मार्च में ही गर्मियां बढ़ने के कारण बीयर की मांग में 30 फीसदी तक तेजी आई. मार्च में इस बार पिछले 122 साल में सबसे ज्यादा तापमान रिकॉर्ड किया गया. उन्होंने कहा, 'सामान्यत: रिटेलर्स मार्च में बीयर का स्टॉक जमा करते हैं और उसे अप्रैल, मई, जून जैसे गर्म महीनों में खपाया जाता है. हालांकि इस बार मार्च में ही डिमांड बढ़ने लगी, इस कारण वे पर्याप्त स्टॉक जमा नहीं कर पाए.'