अब तक 70 लाख से ज्यादा फास्टैग जारी, बिक्री में 330% का उछाल

केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा कि अब तक 70 लाख से ज्यादा फास्टैग जारी किए गए. मंगलवार को सबसे ज्यादा 1,35,583 टैग की बिक्री हुई. यह एक दिन में बिक्री का सर्वाधिक उच्च स्तर है.

1 दिसंबर से नेशनल हाईवे के टोल प्‍लाजा फास्टैग अनिवार्य
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 28 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 9:19 AM IST

  • मंगलवार को सबसे ज्यादा 1,35,583 टैग की बिक्री हुई
  • टोल पर जाम से निपटने के लिए 1 दिसंबर से फास्टैग जरूरी

केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा कि अब तक 70 लाख से ज्यादा फास्टैग जारी किए गए. मंगलवार को सबसे ज्यादा 1,35,583 टैग की बिक्री हुई. यह एक दिन में बिक्री का सर्वाधिक उच्च स्तर है.

राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) कार्यक्रम को देशभर में लागू किया गया ताकि बाधाओं को खत्म करके यातायात को सुगम और शुल्क संग्रह को आसान बनाया जा सके. यह सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की प्रमुख पहल है.

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने बयान में कहा, 'आज की तारीख तक 70 लाख से ज्यादा फास्टैग जारी किए गए हैं. 26 नवबंर 2019 (मंगलवार) को एक दिन में सबसे ज्यादा 1,35,583 टैग जारी किए गए. इससे पहले एक दिन से सबसे ज्यादा 1.03 लाख टैग जारी किए गए थे.

फास्टैग की बिक्री में भारी इजाफा

फास्टैग जारी करने में रोजाना आधार पर औसतन 330 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है. यह आंकड़ा जुलाई में 8,000 से बढ़कर नवबंर में 35,000 टैग हो गया. बयान में कहा गया है कि फास्टैग को 21 नवबंर को मुफ्त किए जाने के बाद फास्टैग बिक्री में तेजी देखी गई है. फास्टैग को 560 से ज्यादा टोल प्लाजा पर स्वीकार किया जा रहा है तथा इसे और बढ़ाया जा रहा है.

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने वाहनों के लिए फास्ट टैग के रंग निर्धारित कर दिए हैं. इनके आधार पर ही वाहन की पहचान की जाएगी. टोल प्लाजा पर दिए जाने वाले फास्ट टैग भी इसी आधार पर दिए जा रहे हैं.

फास्टैग के बिना एंट्री पर लगेगा जुर्माना

1 दिसंबर यानी अगले महीने से अगर आपकी गाड़ी पर फास्‍टैग नहीं लगा होगा तो मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दरअसल, केंद्र सरकार डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए अगले महीने से नेशनल हाईवे के टोल प्‍लाजा पर फास्‍टैग अनिवार्य कर दिया है. इसके लागू होने के बाद फास्‍टैग के बिना अगर कोई भी वाहन “फास्‍टैग लेन” में प्रवेश कर रहा है, तो उसे दोगुना टोल टैक्‍स देना पड़ सकता है.

क्या है फास्‍टैग?

फास्‍टैग रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टैग गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगेगा. इसको लगाने के बाद आप गाड़ी लेकर टोल प्लाजा से गुजरते हैं तो रुकने की जरूरत नहीं होगी. टोल प्‍लाजा पर लगे कैमरे इसे स्‍कैन कर लेंगे और रकम आपके अकाउंट से अपने आप कट जाएगी. हालांकि इसके लिए यह जरूरी है कि आपका फास्‍टैग रिचार्ज हो. यहां बता दें कि सिर्फ नेशनल हाईवे पर भी फास्‍टैग काम करेगा. स्‍टेट हाईवे के लिए यह प्रभावी नहीं है. फास्‍टैग को My FASTag ऐप या नेटबैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई और अन्‍य लोकप्रिय तरीकों के जरिए रीचार्ज कराया जा सकता है.

Read more!

RECOMMENDED