scorecardresearch
 

IPL: खिताब तक कैसे पहुंचेंगे रोहित-धोनी-कोहली? पार्ट-2 में चुनौती है बड़ी

धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) 2020 में यूएई के अपने प्रदर्शन को भुलाना चाहेगी, वहीं दिल्ली कैपिटल्स (DC), रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) का सपना पहली बार आईपीएल खिताब जीतने का होगा. जबकि रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस (MI) भी लगातार तीसरी बार खिताब जीतना चाहेगी.

X
Rohit Sharma, MS Dhoni and Virat Kohli. Rohit Sharma, MS Dhoni and Virat Kohli.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आईपीएल 2021 के दूसरे चरण की शुरुआत आज से
  • दुबई में मुंबई इंडियंस का सामना चेन्नई सुपर किंग्स से
  • भारतीय समयानुसार शाम 7.30 बजे से खेला जाएगा मैच

आईपीएल 2021 के दूसरे चरण की शुरुआत आज (19 सितंबर) से हो रही है. कोविड-19 के चलते आईपीएल-14 को स्थगित करना पड़ा था. आईपीएल के दूसरे चरण से‌ आठों टीमों के पास अलग-अलग चुनौतियां हैं, जिनसे उन्हें निपटना होगा. जहां एमएस धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) 2020 में यूएई के अपने प्रदर्शन को भुलाना चाहेगी, वहीं दिल्ली कैपिटल्स (DC), रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) का सपना पहली बार आईपीएल खिताब जीतने का होगा. जबकि रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस (MI) भी लगातार तीसरी बार खिताब जीतना चाहेगी. 

पंजाब किंग्स (PBKS), सनराइजर्स हैदराबाद (SRH), कोलकाता नाइट राइडर्स (RCB) और राजस्थान रॉयल्स (RR) की टीमें भी पहले हाफ के प्रदर्शन को भुलाकर वापसी की कोशिश करेंगी. 

आईपीएल 2021 के दूसरे चरण में टीमों की चुनौतियां-

दिल्ली कैपिटल्स (DC): मध्यक्रम की परेशानी 

पहले हाफ में श्रेयस अय्यर की अनुपस्थिति के बावजूद तालिका में शीर्ष पर रहना दिल्ली कैपिटल्स के लिए एक अच्छी बात रही. लेकिन उनकी भी समस्याएं कम नहीं हैं. अब दूसरे लेग में अय्यर की वापसी कप्तान ऋषभ पंत के लिए चयन की पहेली पैदा करती है. टीम को अपने पूर्व कप्तान और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक स्टीव स्मिथ में से एक का चयन करना होगा. लेकिन दिल्ली को मध्यक्रम की खामियों को भी दूर करने की जरूरत है. 

श्रेयस अय्यर की गैरमौजूदगी में पहले चरण में 8 मैचों में नंबर 3 और 4 के बल्लेबाजों ने मिलकर 312 रन बनाए. इस दौरान अजिंक्य रहाणे, स्टीव स्मिथ और ऋषभ पंत समेत कुल पांच बल्लेबाजों ने इन दो क्रमों पर बल्लेबाजी की. लेकिन अय्यर की वापसी के साथ दिल्ली का सिरदर्द इस बात को लेकर होगा कि किसे प्लेइंग इलेवन में रखा जाए और क्या स्टीव स्मिथ को एक गेंदबाज के स्थान पर लाया जा सकता है.

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK): जूझ रहे कप्तान धोनी 

एमएस धोनी की अगुआई वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने 2020 के खराब सीजन के बाद अपना फॉर्म फिर से हासिल कर लिया है. तीन बार की चैम्पियन सीएसके अभी प्वाइंट्स टेबल में दूसरे स्थान पर हैं. लेकिन कप्तान धोनी के फॉर्म को लेकर टीम काफी चिंतित होगी. धोनी पहले हाफ में महज 12.33 की औसत से 37 रन ही बना सके थे. उनकी बल्लेबाजी में आत्मविश्वास की साफ कमी दिखाई दी क्योंकि पूर्व भारतीय कप्तान ने खुद को बैटिंग क्रम में ऊपर भेजने के नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने के लिए चुना. चूंकि धोनी को अब क्रीज में पांव जमाने में अधिक समय लगता है. ऐसे में वह अब फिनिशर का रोल ठीक से नहीं निभा सकते हैं और यहीं पर सीएसके ने संघर्ष किया है. 

राजस्थान रॉयल्स (RR): निरंतरता का अभाव

यूएई लेग में राजस्थान रॉयल्स के प्लेइंग इलेवन में तीन नए विदेशी खिलाड़ी दिखाई देंगे. लेकिन राजस्थान की टीम में निरंतरता की काफी कमी है, जिसे लेकर वे सबसे ज्यादा चिंतित होंगे. कप्तान संजू सैमसन ने आईपीएल 2021 के पहले हाफ में बाद के मुकाबलों में निरंतरता के साथ बल्लेबाजी की, लेकिन अबकी बार उन्हें जोस बटलर की कमी खलेगी. गेंदबाजी विभाग में टीम के पास तबरेज शम्सी के रूप में एक नया चेहरा होगा, वहीं लियाम लिविंगस्टोन भी टीम के लिए डेब्यू करते दिखाई देंगे. नई ओपनिंग जोड़ी को जल्द से लय पाना होगा, क्योंकि टीम को बाकी के 7 मैचों में लगातार अच्छे नतीजों की जरूरत होगी.

पंजाब किंग्स (PBKS): टॉप ऑर्डर पर निर्भरता

केएल राहुल और मयंक अग्रवाल को आउट कर दिया जाए तो पंजाब किंग्स के लिए रनों का सूखा पड़ जाएगा. डेविड मलान के साथ ही रिले मेरेडिथ और जाय रिचर्डसन भी दूसरे चरण में टीम के साथ नहीं होंगे. निकोलस पूरन, क्रिस गेल, शाहरुख खान जैसे खिलाड़ियों पहले चरण में कुछ खास नहीं कर सके थे. ऐसे में इन बल्लेबाजों को हर हाल में फॉर्म में लौटना होगा. वहीं गेंदबाजी में मोहम्मद शमी का साथ बाकी गेंदबाजों को देना पड़ेगा, ताकि टीम की किस्मत पलट सके.

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR): फॉर्म में नहीं धुरंधर

इयोन मॉर्गन की अगुवाई वाली केकेआर को अपने खिलाड़ियों की खराब फॉर्म का सामना करना पड़ा है. सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल, इयोन मॉर्गन, आंद्रे रसेल, सुनील नरेन, राहुल त्रिपाठी और शाकिब अल हसन सभी का परफॉर्मेंस काफी खराब रहा था. इसके अलावा वे इस बार पैट कमिंस के बिना होंगे. टीम की किस्मत बदलने के लिए इयोन मॉर्गन को सबसे पहले शुभमन गिल और आंद्रे रसेल के साथ फॉर्म में लौटना होगा.

सनराइजर्स हैदराबाद (SRH): अजीबो-गरीब फैसले 

पहले चरण में डेविड वॉर्नर को कप्तानी से बर्खास्त करने तक तो ठीक था, लेकिन अपने इस सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज को प्लेइंग इलेवन से ड्रॉप करना काफी हैरत भरा रहा. ऐसे में वॉर्नर और सनराइजर्स हैदराबाद प्रबंधन के बीच यह विवाद चरम पर पहुंच गया था. नए कप्तान केन विलियमसन ने इस खाई को पाटने की कोशिश की, लेकिन टीम का ऑन-फील्ड प्रदर्शन काफी खराब रहा. अब डेविड वॉर्नर जैसे खिलाड़ियों को फॉर्म में लौटना ही होगा. वहीं जॉनी बेयरस्टो की कमी को पूरी करना दूसरी चुनौती होगी. 

मुंबई इंडियंस (MI): ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या बेरंग

रोहित‌ शर्मा की अगुवाई वाली मुंबई इंडियंस के स्क्वॉड में दूसरे हाफ के लिए खास बदलाव नहीं हुआ है. लेकिन हार्दिक पंड्या की लय और फिटनेस मुंबई के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. आईपीएल 2021 के पहले चरण में पंड्या ने एक भी ओवर नहीं फेंका, वहीं बल्ले से भी वह असफल रहे. हालांकि पंड्या ने अब गेंदबाजी करना शुरू कर दिया है, लेकिन बल्ले से वह काफी संघर्ष करते दिखे हैं. मध्यक्रम में ईशान किशन जैसे अन्य खिलाड़ियों ने भी लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है. ऐसे में मुंबई इंडियंस का एक बार फिर से खिताब जीतने का सपना चकनाचूर हो सकता है.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु (RCB): 4 नए विदेशी खिलाड़ी

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए आईपीएल 2021 अब तक बढ़िया गुजरा है और इस समय यह टीम अंक तालिका में तीसरे नंबर पर है. ऐसे में विराट कोहली की अगुआई वाली आरसीबी की पूरी कोशिश पहली बार खिताब जीतने की होगी. दूसरे चरण के लिए आरसीबी ने वानिंदु हसारंगा, दुष्मंता चामीरा समेत चार विदेशी खिलाड़ियों को अपने साथ जोड़ा है, जिन्हें आईपीएल का अनुभव नहीं है. इन खिलाड़ियों को जल्द से जल्द यूएई की परिस्थितियों में ढालने की आवश्यकता होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें