scorecardresearch
 

IND vs SL Day-Night Test: 'हमें पिंक बॉल से गेंदबाजी, फील्डिंग और बैटिंग की आदत नहीं', रणनीति पर बुमराह का खुलासा

टीम इंडिया और श्रीलंका के बीच पिंक बॉल टेस्ट 12 मार्च से बेंगलुरु में खेला जाएगा. यह भारतीय टीम का ओवरऑल चौथा और अपने घर में तीसरा डे-नाइट टेस्ट होगा...

X
Jasprit Bumrah (Twitter) Jasprit Bumrah (Twitter)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टीम इंडिया और श्रीलंका के बीच डे-नाइट टेस्ट
  • यह पिंक बॉल टेस्ट 12 मार्च से बेंगलुुरु में होगा

टीम इंडिया और श्रीलंका के बीच दो टेस्ट की सीरीज का आखिरी मैच 12 मार्च से बेंगलुरु में खेला जाएगा. यह डे-नाइट टेस्ट होगा. मैच से पहले टीम इंडिया के उपकप्तान जसप्रीत बुमराह ने कहा कि हमारी टीम को पिंक बॉल टेस्ट में गेंदबाजी, फील्डिंग और बैटिंग करने की आदत नहीं है. ऐसे में टीम अभी भी बच्चे की तरह सीखने की प्रक्रिया में है.

दरअसल, यह भारतीय टीम का ओवरऑल चौथा और अपने घर में तीसरा डे-नाइट टेस्ट होगा. टीम इंडिया ने अब तक कुल 3 में से 2 पिंक बॉल टेस्ट जीते हैं. दोनों ही अपने घर में खेले गए. सिर्फ एक डे-नाइट टेस्ट हारा है, जो दिसंबर 2020 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में खेला गया था. यह भारत द्वारा विदेशी जमीन पर खेला गया एकमात्र डे-नाइट टेस्ट रहा. घर में बांग्लादेश और इंग्लैंड को हराया है. तीनों मैच में हालात बिल्कुल अलग थे.

'शाम को पिंक बॉल से मिलेगी स्विंग'

डे-नाइट टेस्ट से पहले बुमराह ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘पेशेवर क्रिकेटर के तौर पर हमें हालात के अनुरूप तेजी से ढलना होगा. गुलाबी गेंद फील्डिंग के समय अलग सी लगती है. आप जैसा आंकते हैं, यह उससे पहले आ जाती है. दोपहर में भले ही स्विंग नहीं मिले, लेकिन शाम को इससे स्विंग मिलेगी. यह सब छोटे छोटे पहलू हैं.’’

बुमराह ने कहा, ‘हमने गुलाबी गेंद से ज्यादा क्रिकेट नहीं खेली है. जब भी खेला है तो हालात अलग-अलग रहे हैं तो कोई तय मानदंड नहीं है. जो कुछ भी थोड़ा बहुत अनुभव है और जो फीडबैक मिला है, उसके आधार पर ही उन चीजों पर काम कर सकते हैं जो आपके कंट्रोल में है.’

'दूधिया रोशनी में फील्डिंग करने में दिक्कत'

उन्होंने कहा कि मोहाली टेस्ट के दौरान भी टीम ने गुलाबी गेंद से प्रैक्टिस की है. बुमराह ने कहा, ‘हमें गुलाबी गेंद से फील्डिंग, गेंदबाजी या बल्लेबाजी की आदत नहीं है. हम गुलाबी गेंद से नहीं खेलते हैं. दूधिया रोशनी में फील्डिंग करते हुए कई सामंजस्य बिठाने पड़ते हैं. हम अभी भी इस फॉर्मेट में नए हैं.’

यह पूछने पर कि टीम तीन स्पिनरों या तेज गेंदबाजों के साथ उतरेगी, बुमराह ने कहा कि आखिरी बार पिच का मुआयना करने के बाद ही टीम संयोजन पर फैसला लिया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘हमने पिच देखी है लेकिन अंतिम मुआयना करने के बाद ही संयोजन के बारे में तय किया जायेगा.’’

अक्षर पटेल को मिल सकता है मौका

समझा जा रहा है कि जयंत यादव की जगह अक्षर पटेल को उतारा जा सकता है. बुमराह ने हालांकि इस बारे में कोई खुलासा नहीं किया. उन्होंने कहा, ‘अक्षर पिछली सीरीज में भी टीम का हिस्सा था. उसने काफी योगदान दिया. बल्ले और गेंद दोनों से वह योगदान देते हैं. वह चोटिल थे, लेकिन अब फिट हो चुका है. टीम संयोजन को लेकर बात की जाएगी. वह हमारे लिए उपयोगी खिलाड़ी हैं.’

बुमराह ने यह भी कहा कि कुलदीप यादव को टीम से बाहर नहीं किया गया,स बल्कि आराम दिया गया है. उन्होंने कहा,‘ वह लंबे समय से बबल में था और घर नहीं गया था. उसके इस मैच में खेलने की संभावना कम ही थी तो उसे आराम दिया गया है, ताकि आईपीएल से पहले वह अपने परिवार के साथ समय बिता सके.’

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें