scorecardresearch
 
रिलेशनशिप

जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद

जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद
  • 1/7
ऑफिस में दिनभर की थकान और काम के प्रेशर ने लोगों का स्ट्रेस लेवल बढ़ा दिया है. स्ट्रेस की सबसे ज्यादा शिकायत नौकरीपेशा लोगों में ही देखने को मिलती हैं. लोगों को स्ट्रेस से बाहर निकलने के लिए अब वैज्ञानिकों ने एक ऐसी तरकीब खोज निकाली है जिससे न सिर्फ उनका तनाव कम होगा, बल्कि वे ऑफिस के माहौल को भी एंजॉय करेंगे.
जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद
  • 2/7
वॉशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर लिआह शेपार्ड का कहना है कि ऑफिस में फ्लर्ट लोगों को फिजकली एट्रैक्टिव और सोशल कनेक्टेड बनाता है जिससे उनका स्ट्रेस लेवल भी कम होता है.
जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद
  • 3/7
इसमें फ्लर्ट सेक्सुअल हैरेसमेंट के बीच के फर्क को भी समझना जरूरी है. 'नॉन हैरेसमेंट सोशल सेक्सुअल बिहेवियर फ्लर्ट' के दायरे में आता है. अगर मर्यादाओं का ख्याल रखकर फ्लर्ट किया जाए तो ये आपकी मेंटल हेल्थ के लिए अच्छा है.
जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद
  • 4/7
शेपार्ड के अनुसार, ऑफिस में सहकर्मियों संग फ्रेंडली फ्लर्ट करने वाले लोगों में स्ट्रेस लेवल कम देखने को मिलता है. शेपार्ड की ये स्टडी जर्नल ऑर्गेनाइजेशनल बिहेवियर में भी प्रकाशित हुई है.
जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद
  • 5/7
शेपार्ड और उनके साथियों ने यह शोध अमेरिका, कनाडा और फिलीपींस में 100 से भी ज्यादा दफ्तरों में काम करने वाले कर्मचारियों पर किया है. इस दौरान उन्होंने लोगों के सोशल सेक्सुअल बिहेवियर को बेहद करीब से समझने का प्रयास किया.

जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद
  • 6/7
शेपार्ड ने रिसर्च के जरिए ये भी जाना कि ऑफिस में लोग सिर्फ रोमांटिक इंटरेस्ट के चलते ही फ्लर्ट नहीं करते हैं. ऑफिस में फ्लर्ट करने वाले लोग सेक्सुअल बिहेवियर के मामले में भी ज्यादा न्यूट्रल पाए गए हैं.
जानें, ऑफिस में फ्लर्ट करना सेहत के लिए है कितना फायदेमंद
  • 7/7
ऑफिस में फ्लर्ट के साथ अपने काम को एंजॉय करने वाले लोगों में स्ट्रेस के नकारात्मक प्रभाव भी कम देखने को मिले हैं. यानी इन लोगों में जॉब को लेकर टेंशन या इनसोमेनिया की शिकायत भी नहीं है.