scorecardresearch
 

ये बेलगाम सांड, इसे खुला मत छोड़िए, BJP की मदद करता है...राकेश टिकैत ने ओवैसी पर साधा निशाना

टिकैत ने कहा, वो (ओवैसी) वो भाजपा की सबसे बड़ी मदद करता है. उसे यहां से बाहर मत जाने दो. वो बोलता कुछ और है उसका मकसद कुछ और है. उसकी जांच कर लेना. उसे बांध कर रख लो. उसे हैदराबाद और तेलंगाना से बाहर मत जाने दो. वो वहां जाएगा, तो भाजपा की मदद करता है. ये पूरे भारत को पता है. ये बेलगाम सांड है. वो बयान कुछ और देगा. भाजपा वाले उसे तोड़ मरोड़ कर पेश करते हैं. ये दोनों A और B टीम हैं.

राकेश टिकैत राकेश टिकैत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • टिकैत बोले- ओवैसी भाजपा की मदद करता है
  • टिकैत ने किसानों से की अपील- इस सांड को बांध कर रखें

किसान नेता राकेश टिकैत गुरुवार को हैदराबाद पहुंचे. यहां उन्होंने एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी पर जमकर निशाना साधा. यहां तक कि टिकैत ने ओवैसी को बेलगाम सांड तक कह डाला. टिकैत ने ओवैसी पर निशाना साधते हुए कहा, एक आपके यहां का बेलगाम सांड आपने खुला छोड़ दिया. वो बीजेपी की मदद करता फिर रहा. उसे यहीं बांध कर रखो.

टिकैत ने कहा, वो (ओवैसी) भाजपा की सबसे बड़ी मदद करता है. उसे यहां से बाहर मत जाने दो. वो बोलता कुछ और है उसका मकसद कुछ और है. उसकी जांच कर लेना. उसे बांध कर रख लो. उसे हैदराबाद और तेलंगाना से बाहर मत जाने दो. वो वहां जाएगा, तो भाजपा की मदद करता है. ये पूरे भारत को पता है. ये बेलगाम सांड है. वो बयान कुछ और देगा. भाजपा वाले उसे तोड़ मरोड़ कर पेश करते हैं. ये दोनों A और B टीम हैं. 

 


ओवैसी भाजपा के चचाजान
राकेश टिकैत ने कहा, ओवैसी भाजपा के चचाजान हैं. वे हिंदू मुस्लिम करवाने का काम करते हैं. राकेश टिकैत ने कहा, जहां भाजपा को हार का डर होता है, वहां ओवैसी की रैली करवाई जाती है. उन्होंने कहा, हम आंदोलनकारी हैं, सड़कों का चुनाव लड़ते हैं.

यूपी के वोटरों तक जाएंगे
राकेश टिकैत ने कहा, संयुक्त किसान मोर्चा की रणनीति भाजपा को हराने की है. हम यूपी के वोटरों तक जाएंगे और उनसे भाजपा को हराने के लिए कहेंगे. हम भाजपा हराओ का नारा देंगे. 

सरकार हमसे बात करे- टिकैत 
टिकैत ने कहा, एमएसपी कानून से किसानों को मदद मिलेगी. हम पीएम मोदी से अपील करते हैं कि एमएसपी पर चर्चा हो. यह हमेशा हमारा मुद्दा रहा है. उन्होंने बताया कि 27 नवंबर को किसान संयुक्त मोर्चा की बैठक है. इसमें आगे की रणनीति तय होगी. हम 29 नवंबर को ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे. हमारा दिल्ली के बॉर्डर छोड़ने का कोई इरादा नहीं है. हम अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखेंगे. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×