scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में सियासी हलचल के बीच संजय राउत की NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात

अब ये बैठक काफी मायने इसलिए रखती है क्योंकि पिछली कुछ दिनों में ऐसे बयान देखने सुनने को मिले हैं, जिस वजह से इस सरकार की एकजुटता पर ही सवाल उठने लगे.

संजय राउत की NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात संजय राउत की NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात
स्टोरी हाइलाइट्स
  • संजय राउत की NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात
  • महाराष्ट्र की राजनीति पर चर्चा
  • राउत बोले- पूरा करेंगे पांच साल का कार्यकाल

महाराष्ट्र में सियासी तामपान काफी ज्यादा है और सवाल खड़े हो रहे हैं कि क्या महाविकास अघाड़ी में सबकुछ ठीक है या नहीं? पिछले कुछ दिनों में कांग्रेस ने शिवसेना पर तंज कसा है, शिवसेना ने कांग्रेस को आइना दिखाया है और कई बैठकों को दौर देखा गया है. इस वजह से राजनीतिक गलियारों में महाराष्ट्र सरकार को लेकर अटकलों का बाजार गर्म रहा. अब इन अटकलों के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की है. उन्होंने दिल्ली में शरद पवार से बातचीत की.

संजय राउत की NCP प्रमुख शरद पवार से मुलाकात

जानकारी मिली है कि इस बैठक में महाराष्ट्र की सियासत पर विस्तार से बातचीत हुई है. खुद संजय राउत ने ट्वीट कर कहा है कि शरद पवार को इस सरकार पर पूरा भरोसा है और उन्हें सीएम उद्धव ठाकरे के नेतृत्व पर भी भरोसा है. ट्वीट में लिखा है- मैंने शरद पवार से मुलाकात की. महाराष्ट्र की सियासत पर विस्तार से बात हुई. उन्हें पूरा भरोसा है कि महाराष्ट्र की सरकार मजबूती से टिकी रहेगी और अपना कार्यकाल पूरा करेगी. उद्धव ठाकरे अपने पांच साल पूरे करेंगे. पवार ने कहा है कि उद्धव लोकप्रिय सीएम हैं.

क्यों मायने रखती है बैठक?

अब ये बैठक काफी मायने इसलिए रखती है क्योंकि पिछली कुछ दिनों में ऐसे बयान देखने सुनने को मिले हैं, जिस वजह से इस सरकार की एकजुटता पर ही सवाल उठने लगे. हाल ही में महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले कह गए थे कि कांग्रेस को अगला विधानसभा चुनाव अकेले लड़ना चाहिए. उनके बयान पर खूब हंगामा हुआ, बवाल इतना रहा कि खुद सीएम उद्धव ठाकरे ने तंज कस दिया कि अकेले लड़ना है तो हर मुद्दे पर अकेले रहना चाहिए. 

क्लिक करें- महाराष्ट्र: देवेंद्र फडणवीस एकनाथ खडसे के बंगले पर, क्यों लग रहीं राजनीतिक अटकलें? 

महाविकास अघाड़ी में सबकुछ ठीक?

इस बीच फिर सीएम उद्धव की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी अहम बैठक हो गई. बैठक के बाद संजय राउत ने प्रधानमंत्री की जमकर तारीफ भी की. ऐसे में कयास लगने लगे कि क्या शिवसेना फिर अपने सबसे पुराने साथी का दामन थामने जा रही है? अब ऐसा तो कुछ नहीं हुआ और संजय राउत की शरद पवार से मुलाकात ने भी काफी कुछ साफ कर दिया. अभी के लिए जोर देकर कहा जा रहा है कि उद्धव ठाकरे सरकार सियासी पिच पर मजबूती से टिकी हुई है और अपना कार्यकाल भी पूरा करेगी. वैसे अभी शरद पवार की राजनीति भी चर्चा का विषय बनी हुई है. उनकी दो बार प्रशांत किशोर संग मुलाकात हो गई है, अटकलें हैं कि कांग्रेस मुक्त थर्ड फ्रंट बनाने पर जोर है.
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें