scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश: BJP कार्यकर्ता लाठी के साथ करते रहे कांग्रेस नेताओं का इंतजार, जानिए क्यों?

कांग्रेस विधायक ने कहा था कि वो प्रज्ञा ठाकुर को पार्टी से निष्कासित करने की मांग करते हुए प्रदेश अध्यक्ष के नाम ज्ञापन देंगे. बस इसी को देखते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपने दफ्तर के बाहर बुधवार सुबह से ही मोर्चा संभाल लिया और लाठी-डंडों से लैस होकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का इंतजार करने लगे.

बीजेपी कार्यालय के बाहर BJP कार्यकर्ता बीजेपी कार्यालय के बाहर BJP कार्यकर्ता

  • गोडसे पर बीजेपी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर जताया विरोध
  • कार्यकर्ता बोले-गोडसे की तारीफ करने वालों के खिलाफ लड़ाई

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बुधवार को प्रदेश बीजेपी कार्यालय में हैरान कर देने वाली तस्वीर देखने को मिली. यहां सैंकड़ों की संख्या में बीजेपी के महिला और पुरुष कार्यकर्ता हाथों में लाठियां लेकर घंटों बीजेपी दफ्तर के बाहर डटे रहे.

प्रज्ञा ठाकुर पर की कार्रवाई की मांग

दरअसल, अपनी ही पार्टी ऑफिस के बाहर हाथों में डंडे और लाठियां लेकर बीजेपी कार्यकर्ता यहां आने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं का इंतजार कर रहे थे. भोपाल मध्य से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने ऐलान किया था कि वो बुधवार दोपहर 12:30 बजे कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बीजेपी के प्रदेश कार्यालय का घेराव करेंगे.

उन्होंने कहा कि इस प्रदर्शन में गोडसे पर बीजेपी सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान का विरोध करते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे.

कांग्रेस विधायक ने कहा था कि वो प्रज्ञा ठाकुर को पार्टी से निष्कासित करने की मांग करते हुए प्रदेश अध्यक्ष के नाम ज्ञापन देंगे. बस इसी को देखते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपने दफ्तर के बाहर बुधवार सुबह से ही मोर्चा संभाल लिया और लाठी-डंडों से लैस होकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का इंतजार करने लगे.

बीच रास्ते मे रोका कांग्रेस कार्यकर्ताओं को

बीजेपी कार्यालय के बाहर लाठी-डंडों के साथ मौजूद बीजेपी कार्यकर्ताओं की भीड़ को देखते हुए पुलिस को आशंका थी कहीं दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं में टकराव की स्थिति ना बन जाए इसलिये इलाके में भारी पुलिस बल तैनात किया गया था. वहीं बीजेपी कार्यालय की तरफ आने वाले रास्ते पर भी बैरिकेडिंग कर दी गयी थी.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं की रैली को भी पुलिस ने आधे रास्ते पर ही बैरिकेडिंग कर रोक लिया. आखिरकार यहीं पर आरिफ मसूद ने अपना प्रदर्शन खत्म किया और कहा कि भले ही वो बीजेपी दफ्तर ना जा पाए हो लेकिन गांधी के हत्यारे गोडसे की तारीफ करने वालों के खिलाफ उनकी लड़ाई जारी रहेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें