scorecardresearch
 

हिमाचलः विधानसभा गेट पर लगाए खालिस्तान के झंडे, SJF को लेकर पहले ही था अलर्ट

हिमाचल प्रदेश में खालिस्तान के झंडे लगाए गए हैं, दरअसल ये हरकत कहीं औऱ नहीं बल्कि विधानसभा गेट पर की गई है. हालांकि पुलिस इस मामले में केस दर्ज करने जा रही है.

X
विधानसभा के गेट पर लगे खालिस्तान के झंडे विधानसभा के गेट पर लगे खालिस्तान के झंडे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • खुफिया विभाग ने जारी किया था अलर्ट
  • स्थानीय पुलिस ने झंडे हटवा दिए हैं

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मुख्य द्वार और आसपास खालिस्तान के झंडे लगाए जाने का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि खालिस्तान के यह झंडे आज देर रात या फिर सुबह लगाए गए हैं. हालांकि इस घटनाक्रम की जानकारी पुलिस को दी गई है. पुलिस ने विधानसभा के गेट पर लगे झंडे हटवा दिए हैं. लेकिन अभी तक ये साफ नहीं हो सका है कि ये हरकत किसने की है.

कांगड़ा एसपी खुशाल शर्मा ने बताया कि हमें इस घटना की सूचना मिली. पुलिस ने तत्काल प्रभाव से विधानसभा के गेट से खालिस्तान के झंडे हटवा दिए. अब हम इस मामले में केस दर्ज करने जा रहे हैं.

विधानसभा की दीवार पर खालिस्तान के झंडे लगाए गए हैं

हालांकि ये खुफिया विभाग ने 26 मार्च को ही इसका अलर्ट जारी कर दिया था. खुफिया विभाग ने बताया था कि खालिस्तानी आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस के चीफ गुरुपतवंत सिंह पन्नू ने लेटर जारी कर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री को धमकी देते हुए कहा था कि वो शिमला में भिंडरावाला और खालिस्तान का झंडा फहराएगा.

 

आज तक/इंडिया टुडे के पास मौजूद है अलर्ट की कॉपी

 

दरअसल सिख फॉर जस्टिस हिमाचल प्रदेश में भिंडरावाले और खालिस्तानी झंडे लगी गाड़ियों के बैन से भड़का हुआ था. सिख फॉर जस्टिस ने 29 मार्च को खालिस्तानी झंडा लगाने का ऐलान किया था, लेकिन भरी सुरक्षा की वजह से वह ऐसी कोई हरकत नहीं कर पाया था. 

 

खालिस्तानी झंडे पर क्या कहा सीएम ठाकुर ने

धर्मशाला विधानसभा परिसर के गेट पर रात के अंधेरे में खालिस्तान के झंडे लगाने वाली कायरतापूर्ण घटना की मैं निंदा करता हूं. इस विधानसभा में केवल शीतकालीन सत्र ही होता है, इसलिए यहां अधिक सुरक्षा व्यवस्था की आवश्यकता उसी दौरान रहती है. इसी का फायदा उठाकर यह कायरतापूर्ण घटना को अंजाम दिया गया है, लेकिन हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. इस घटना की त्वरित जांच की जाएगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. जिसने भी ये किया है, मैं उन लोगों को कहना चाहूंगा कि यदि हिम्मत है तो रात के अंधेरे में नहीं, दिन के उजाले में सामने आएं.

 

सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस


धर्मशाला के तपोवन स्थित हिमाचल प्रदेश विधानसभा के गेट पर खालिस्तान के झंडे लगाए जाने के बाद पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है. बताया जा रहा है कि विधानसभा परिसर में एक की गार्ड मौजूद है. जबकि विधानसभा के बाहर गार्ड नहीं होता है. न ही यहां सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. ऐसे में पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालेगी.

विधायक बोले- ये कायराना हरकत

वहीं धर्मशाला के विधायक विशाल नेहरिया ने कहा कि ये कायराना हरकत है. अगर दम है तो वह दिन के उजाले में आकर इस तरह की हरकत करके दिखाएं.वहीं धर्मशाला एसडीएम शिल्पी बेकटा ने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है. विधानसभा अध्यक्ष और अन्य अधिकारियों को इसकी जानकारी दे दी गई है.

विधानसभा के गेट पर रविवार की सुबह झंडे लगे होने से हड़कंप मच गया. हालांकि पुलिस का मानना है कि किसी पर्यटक की ओर से ये हरकत की गई है, लेकिन ऐसा किसने किया ये पूरी तरह से साफ नहीं हुआ है. (इनपुट-मृत्युंजय पुरी)

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें