scorecardresearch
 

एलजी को केजरीवाल की चिट्ठी- दिल्ली में कोरोना काबू में, सार्वजनिक जगहों पर छठ की अनुमति दी जाए

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को चिट्ठी लिखकर सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा करने की अनुमति देने की मांग की है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना काबू में है, इसलिए सार्वजनिक जगहों पर छठ की अनुमति दी जाए.

सीएम अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो-PTI) सीएम अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा पर रोक
  • कोरोना महामारी के चलते लगा दी थी रोक
  • केजरीवाल ने उपराज्यपाल को लिखी चिट्ठी

दिल्ली में सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा पर पाबंदी (Chhath Puja Ban) लगाने के बाद मचा बवाल अब शांत हो सकता है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने उपराज्यपाल अनिल बैजल (LG Anil Baijal) को चिट्ठी लिखी है. इसमें केजरीवाल ने उनसे कहा है कि कोरोना अभी काबू में है, ऐसे में सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा की अनुमति दी जाए.

दरअसल, 30 सितंबर को दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (DDMA) ने त्योहारों को लेकर गाइडलाइंस जारी कर सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा (Chhath Puja) करने पर रोक लगा दी थी. डीडीएमए ने ये फैसला कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के चलते लिया था. लेकिन, इसके बाद बवाल मच गया और बीजेपी सड़कों पर उतर आई थी. 

सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा करने पर लगी रोक पर विवाद बढ़ता देख मुख्यमंत्री केजरीवाल ने उपराज्यपाल को चिट्ठी लिखी है. इसमें केजरीवाल ने लिखा, 'दिल्ली में लोग बड़ी आस्था से हर साल छठ पूजा मनाते हैं. दिल्ली में पिछले तीन महीनों से कोविड महामारी नियंत्रण में है. मेरा विचार है कि हमें कोविड प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखते हुए छठ पूजा मनाने की अनुमति देनी चाहिए.'

केजरीवाल ने आगे लिखा, 'उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान आदि पड़ोसी राज्यों ने भी अपने नागरिकों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए उचित प्रतिबंधों के साथ छठ पूजा मनाने की अनुमति दी है. मेरा आपसे अनुरोध है कि यथाशीघ्र DDMA की बैठक बुलाकर छठ पूजा समारोह के आयोजन की अनुमति प्रदान करें.'

मनोज तिवारी बोले- आस्था जीती, खराब जिद हारी

केजरीवाल के चिट्ठी लिखने पर बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने उन्हें धन्यवाद दिया है. उनेहोंने कहा कि उन्होंने (केजरीवाल) एक बहुत अच्छी लाइन लिखी है जब देश में हर जगह छठ हो सकता है तो दिल्ली में क्यों नहीं, इसके लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं. 

तिवारी ने कहा, 'विपक्ष के रूप में हमें ये काम करना भी चाहिए कि कहीं गलत हो रहा है तो उसे ठीक किया जाए और आज आस्था जीती और एक खराब जिद थी जो हारी और इसीलिए मैं धन्यवाद तो दूंगा कि देर आए दुरुस्त आए. चाहे ये निर्णय दबाव में आया या छठ माई के प्रभाव में आया लेकिन हम सभी खुश हैं कि कम से कम निर्णय आया और सभी लोगों को धन्यवाद जो लोग छठ के आयोजन के लिए लगे रहे.' उन्होंने कहा कि मुझे चोट भी आई थी लेकिन छठ मैया ने बचा लिया.

पिछले साल भी कोरोना के चलते दिल्ली में सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा मनाने पर रोक लगा दी थी. छठ पूजा लोकप्रिय त्योहार है, खासतौर से पूर्वांचल के लोगों के लिए. ये त्योहार दिवाली के 6 दिन बाद मनाया जाता है, जो 4 दिन तक चलता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें