scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: "योगी फोन पर बात करते हैं लेकिन अखिलेश नहीं", शिवपाल का ये बयान पुराना है, अभी का नहीं

तकरीबन पांच साल की नाराजगी के बाद मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल यादव और अखिलेश यादव एक होते दिख रहे हैं. यूपी चुनाव के लिए शिवपाल की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन हुआ है.

X
यूपी चुनाव के लिए शिवपाल की प्रसपा और सपा के बीच गठबंधन हुआ है. यूपी चुनाव के लिए शिवपाल की प्रसपा और सपा के बीच गठबंधन हुआ है.

तकरीबन पांच साल की नाराजगी के बाद मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल यादव और अखिलेश यादव एक होते दिख रहे हैं. यूपी चुनाव के लिए शिवपाल की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन हुआ है.

लेकिन अब सोशल मीडिया पर एक वीडियो के जरिए दावा किया जा रहा है कि शिवपाल यादव ने अखिलेश पर निशाना साधा है. दावे के मुताबिक, शिवपाल ने कहा है कि सीएम योगी तो उनसे फोन पर बात कर लेते हैं लेकिन उनके भतीजे अखिलेश न फोन पर आते हैं और न समय देते हैं.

वीडियो "एबीपी न्यूज" के किसी सम्मेलन का है जिसमें मंच से शिवपाल यादव को ये बयान देते सुना जा सकता है. वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा है "चाचा शिवपाल का ABP न्यूज पर छलका दर्द, अखिलेश फोन पर भी बात करना नहीं चाहता और योगी जी एक बार में ही फोन पर बात कर लेते हैं."

फेसबुक  और ट्विटर पर वीडियो को इस तरह से पेश किया जा रहा है जैसे शिवपाल ने ये बयान हाल-फिलहाल में दिया हो.

गठबंधन से पहले का है वीडियो

हमारी जांच में सामने आया कि ये वीडियो अभी का नहीं बल्कि अगस्त 2021 का है. उस समय शिवपाल यादव की पार्टी का सपा से गठबंधन नहीं हुआ था और अखिलेश यादव के अपने चाचा से रिश्ते सामान्य नहीं थे.  

खोजने पर हमें "एबीपी न्यूज" के यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो मिला जिसमें वायरल वीडियो वाला हिस्सा 17 मिनट 46 सेकंड बाद देखा जा सकता है. ये वीडियो पिछले साल 27 अगस्त को अपलोड किया गया था. शिवपाल यादव ने ये बयान "एबीपी न्यूज" के शिखर सम्मेलन में दिया था.
 

यहां बता दें कि सपा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन दिसंबर 2021 में हुआ था जब अखिलेश यादव की अपने चाचा के साथ एक फोटो सामने आई थी. साफ है कि वायरल वीडियो इससे पहले का है जब दोनों के बीच सब कुछ ठीक नहीं था.

गौरतलब है कि साल 2016 के अंत‌ यानी यूपी चुनाव 2017 से ठीक पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल यादव के बीच तनातनी हो गई थी. उस समय यूपी सपा का अध्यक्ष रहते हुए शिवपाल यादव ने कुछ फैसले लिए थे जिनसे अखिलेश नाराज हो गए थे. यह मतभेद इतना बढ़ गया था कि एक सार्वजनिक बैठक में मुलायम के सामने अखिलेश और शिवपाल के बीच धक्का-मुक्की तक हो गई थी. इस कलह के बाद शिवपाल यादव ने सपा छोड़कर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बना ली थी.

हालांकि, अब सालों की खींचतान के बाद अखिलेश और शिवपाल एकजुट नजर आ रहे हैं. हाल ही में यूपी बीजेपी नेता लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने इशारा किया था कि शिवपाल यादव बीजेपी में आ सकते हैं. इसका शिवपाल ने खंडन करते हुए कहा है कि उनके बीजेपी में शामिल होने वाले दावे में कोई सच्चाई नहीं है. अपने ट्वीट में शिवपाल ने लिखा है कि वो सपा से हुए गठबंधन के साथ हैं और प्रदेश की बीजेपी सरकार को चुनाव में पराजित करेंगे.

यहां निष्कर्ष यह निकलता है कि शिवपाल यादव ने अखिलेश को लेकर यह बयान सचमुच दिया था लेकिन अभी नहीं, लगभग 5 महीने पहले. हाल-फिलहाल में तो चाचा-भतीजे के रिश्ते सुधरते हुए दिख रहे हैं.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और मुलायम सिंह यादव के भाई शिवपाल ने कहा है कि योगी आदित्यनाथ तो उनसे फोन पर बात कर लेते हैं लेकिन उनके भतीजे अखिलेश न फोन पर आते हैं और न समय देते हैं.

निष्कर्ष

ये वीडियो अभी का नहीं बल्कि अगस्त 2021 का है. उस समय शिवपाल यादव की पार्टी का सपा से गठबंधन नहीं हुआ था और अखिलेश यादव के अपने चाचा से रिश्ते सामान्य नहीं थे.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें