scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: पुरानी तस्वीरों के सहारे उड़ी राफेल क्रैश होने की अफवाह

वायरल तस्वीरों को रिवर्स सर्च करने पर हमें इनसे से जुड़ी कई न्यूज़ रिपोर्ट्स मिलीं. ये रिपोर्ट्स 1 फरवरी 2019 को बेंगलुरु स्थित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) एयरपोर्ट पर हुए मिराज-2000 लड़ाकू विमान के क्रैश के बारे में थीं.

वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के बीच 10 सितंबर को पांच राफेल लड़ाकू विमान आधिकारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल हो गए. अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर हुए एक कार्यक्रम के दौरान राफेल वायुसेना के 17वें स्क्वाड्रन "गोल्डन एरो" में शामिल हुए. इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली भी मौजूद थे.

इसी के मद्देनजर सोशल मीडिया पर कुछ पुरानी तस्वीरों के जरिये अफवाह फैलाई जाने लगी कि ट्रेनिंग के दौरान एक राफेल जेट क्रैश हो गया है, जिसमें दो पायलटों की मौत हो गई है. पोस्ट में कुछ तस्वीरें हैं जिनमें जमीन पर पड़े मलबे से धुआं निकलता हुआ दिख रहा है. एक तस्वीर में मलबे से आग की लपटें उठते हुए भी देखी जा सकती हैं.

पोस्ट में दिख रही मलबे की तस्वीरें मिराज-2000 लड़ाकू विमान की हैं जो फरवरी 2019 में बेंगलुरु में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस विमान दुर्घटना में दो पायलट मारे गए थे. पोस्ट में राफेल के क्रैश होने को लेकर किया जा रहा दावा झूठा है. भारत सरकार ने खुद इस बात का खंडन किया है.

इस तरह के भ्रामक पोस्ट फेसबुक और ट्विटर पर जमकर शेयर किये जा रहे हैं. अधिकतर पोस्ट को पाकिस्तान यूज़र्स द्वारा ही शेयर किया गया है. वायरल पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

वायरल तस्वीरों को रिवर्स सर्च करने पर हमें इनसे से जुड़ी कई न्यूज़ रिपोर्ट्स मिलीं. ये रिपोर्ट्स 1 फरवरी 2019 को बेंगलुरु स्थित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) एयरपोर्ट पर हुए मिराज-2000 लड़ाकू विमान के क्रैश के बारे में थीं.

पहली तस्वीर "द इंडियन एक्सप्रेस" की एक रिपोर्ट में मौजूद है. दूसरी और तीसरी तस्वीरें "द प्रिंट" और "आउटलुक" की रिपोर्ट्स में देखी जा सकती हैं. चौथी तस्वीर राफेल जेट की ही है. शुरू की तीनों तस्वीरें मिराज-2000 के क्रैश से जुड़ी हैं.

खबरों के मुताबिक, मिराज-2000 ने 1 फरवरी 2019 को एचएएल की हवाई पट्टी से उड़ान भरी थी. लेकिन इसके बाद इसमें कुछ खराबी आ गई और विमान क्रैश हो गया. दुर्घटना में दो पायलट सिद्धार्थ नेगी और समीर अबरोल की मौत हो गई थी. 

राफेल क्रैश को लेकर इसी तरह की अफवाह भारतीय वायुसेना के एक फर्जी ट्वीट के माध्यम से भी फैलाई जा रही है. भारत सरकार के प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो ने भी इस ट्वीट को फर्जी बताते हुए इसका खंडन किया है.

ये बात भी समझने वाली है कि अगर राफेल जेट सचमुच क्रैश हुआ होता तो ये इस समय की सबसे बड़ी सुर्खियों में से एक होती. लेकिन ऐसी कोई खबर सामने नहीं आई है.

 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

ट्रेनिंग के दौरान एक राफेल जेट क्रैश हो गया है, जिसमें दो पायलटों की मौत हो गई है.

निष्कर्ष

पोस्ट में किया जा रहा दावा झूठा है. इसमें इस्तेमाल तस्वीरें मिराज-2000 लड़ाकू विमान की हैं जो फरवरी 2019 में बेंगलुरु में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें