scorecardresearch
 

किसानों के हिंसक प्रदर्शन पर खामोश दिलजीत दोसांझ, लोगों ने पूछा- अब चुप क्यों हो?

भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करते हुए कुछ अराजक तत्वों ने झंडे पर निशान साहिब लगाने की कोशिश की. इस पूरे घटनाक्रम के बाद किसानों के आंदोलन को अब बिलकुल नए चश्मे से देखा जा रहा है और इसकी काफी निंदा हो रही है.

दिलजीत दोसांझ दिलजीत दोसांझ

बीते कई महीने से धरने पर बैठे किसानों ने जब गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में मार्च निकालने की कोशिश की तो उनका सुरक्षा बलों से टकराव हो गया. देखते ही देखते हालात किसी जंग के मैदान जैसे हो गए और इसी दौरान किसानों का एक दल लाल किले में दाखिल हो गया. यहां भारतीय राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करते हुए कुछ अराजक तत्वों ने झंडे पर निशान साहिब लगाने की कोशिश की. इस पूरे घटनाक्रम के बाद किसानों के आंदोलन को अब बिलकुल नए चश्मे से देखा जा रहा है और इसकी काफी निंदा हो रही है.

लंबे समय से किसान आंदोलन का समर्थन कर रहे दिलजीत दोसांझ अब सवालों के घेरे में हैं और सोशल मीडिया पर उनसे इस पूरे घटनाक्रम पर जवाब देने की बात कही जा रही है. हालांकि लाल किले पर हुई इस शर्मशार कर देने वाली घटना के बाद से दिलजीत खामोश हैं और उनका इस बारे में एक भी ट्वीट नहीं आया है. एक यूजर ने दिलजीत के उस ट्वीट को रीट्वीट किया है जिसमें उन्होंने मासूम किसानों की तस्वीर शेयर करते हुए कहा था कि ये आपको टेररिस्ट लगते हैं.

यूजर्स पूछ रहे दिलजीत से सवाल
यूजर ने उसी ट्वीट को रीट्वीट करते हुए गणतंत्र दिवस पर हंगामा करते हुए किसानों की तस्वीरें शेयर की हैं और लिखा- ये आपको किसान लगते हैं? इसी क्रम में एक यूजर ने लिखा- बोलो दिलजीत ये आपको किसान लगते हैं? एक यूजर ने दिलजीत को टैग करते हुए लिखा, "सुना है दिल्ली में ट्रैक्टर लेकर घुसने वाले बाहर निकलने का रास्ता ढूंढ रहे हैं." एक यूजर ने निहंग सिख की तस्वीर साझा की है जिसमें वह सामने खड़े पुलिसवाले की तरफ तलवार उठा रहा है. यूजर ने लिखा क्या इस दिन के लिए पूरी पंजाबी फिल्म इंडस्ट्री दिलजीत का साथ दे रही थी.

वायरल हो रहे हैं ऐसे ट्वीट
इस तरह के ढेरों ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हैं जिनमें से कुछ हम यहां पर आपके लिए शेयर कर रहे हैं. उधर बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत लगातार सोशल मीडिया पर ट्वीट करके दिलजीत दोसांझ और प्रियंका चोपड़ा को घेरने की कोशिश कर रही हैं. बता दें कि ये दोनों कलाकार शुरू से ही किसानों के सपोर्ट में रहे हैं.

क्या बोलीं कंगना रनौत?
कंगना ने कहा- ये दिलजीत के चेहरे पर थप्पड़ नहीं है. यही तो वो चाहता था. उसे जो चाहिए था वो इस देश ने थाली में सजाकर दे दिया. इसी तरह के एक अन्य ट्वीट में कंगना ने एंटी सीएए विवाद की एक तस्वीर के साथ किसान आंदोलन विवाद की एक तस्वीर शेयर की जिसके कैप्शन में उन्होंने लिखा- संदेश स्पष्ट है, अब कोई रीफॉर्म या जरूर बदलाव नहीं होंगे. आंतकवाद इस देश की दिशा तय करेगा, सरकार नहीं.

देखें: आजतक LIVE TV

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें