scorecardresearch
 

'2017 से पहले लुंगी छाप गुंडे घूमते थे, टोपी वाले धमकाते थे, ये सब याद रखना', बोले केशव प्रसाद मौर्य

प्रयागराज में बीजेपी के मंडलीय व्यापारी सम्मेलन को संबोधित करते हुए डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पहले लुंगी छाप, जालीदार टोपी वाले बंदूक और पिस्टल लेकर घूमते थे, लोगों को जमीनें कब्जाते थे, लेकिन योगी सरकार आने के बाद अब सब सुरक्षित हैं.

केशव प्रसाद मौर्य ने विवादित बयान दिया है. (फाइल फोटो) केशव प्रसाद मौर्य ने विवादित बयान दिया है. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी के व्यापारी सम्मेलन में बोले केशव मौर्य
  • मौर्य बोले- बीजेपी आई तो व्यापारी सुरक्षित हैं

संगम नगरी प्रयागराज में बीजेपी की तरफ से आयोजित मंडलीय व्यापारी सम्मेलन में राजनीतिक बयानबाज़ी की धार और तेज हो गयी.  डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि सूबे की योगी सरकार गरीब, किसान, नौजवान और व्यापारी सभी के लिए काम कर रही है लेकिन जब हम सुरक्षित होंगे तभी हमारा परिवार और प्रदेश का भविष्य सुरक्षित होगा. 

उन्होंने कहा कि 2017 के पहले प्रयागराज में लुंगी छाप गुंडे घूमते थे. सर पर जालीदार गोल टोपी लगाए हुए. हथियारों के साथ जो व्यापारियों को डराने का काम करते थे और उनकी जमीनों पर कब्जा करते थे. साथ ही शिकायत न करना ऐसी धमकी भी देते थे. ये सारा कुछ याद रखना. उन्होंने कहा कि 2017 के बाद जब से प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है, तब से व्यापारी सुरक्षित हैं. 

केशव मौर्य ने कहा कि एक तरफ केंद्र में  विश्व के सबसे शक्तिशाली नेता के रूप में नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री है तो दूसरी ओर योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में हमने प्रदेश में सरकार कैसी चलती है इसका अहसास प्रदेश की 24 करोड़ जनता तक पहुंचाने का काम किया है. 

अखिलेश यादव के बीजेपी की सफाई के बयान के जवाब में डिप्टी सीएम मौर्य ने कहा कि 2022 में सपा की सफाई का काम जनता करेगी. सफाई करने का काम उनका नहीं हमारा है. आने वाले चुनाव में सपा का सूपड़ा साफ हो जाएगा.

ये भी पढ़ें-- कानपुर से केशव मौर्य का पलटवार, शाहीनबाग की तरह टांय-टांय फिस्स हो जाएगा किसान आंदोलन

सिद्धार्थ नाथ सिंह बोले- वो जिन्ना को याद करते हैं और हम राम को

वहीं, कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि केशव जी ने कहा कि अयोध्या हो गया, काशी हो गयी अब मथुरा की बारी है. उन्होंने कहा कि हम अपना लक्ष्य बता रहे हैं, अपना संकल्प बता रहे है.  आपका संकल्प जिन्ना है आप अपना बता रहे है. अखिलेश यादव जिन्ना को याद करते हैं, हमें कोई दिक्कत नहीं लेकिन जब हम राम को याद करते हैं तो उनको दिक्कत होती है.

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव छोटे-छोटे दलों को जोड़ने की राजनीति कर रहे हैं, वो गणित की राजनीति कर रहे हैं जबकि हम केमिस्ट्री की राजनीति कर रहे हैं और हमारी केमिस्ट्री किसी राजनीतिक पार्टी के साथ नहीं बल्कि जनता के साथ है.

सिद्धार्थनाथ सिंह के पूरे भाषण में बुलडोज़र का बार-बार जिक्र आया. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव कहते हैं कि हमारी सरकार आई तो बुलडोज़र वापस हो जाएगा. उन्होंने सवाल किया कि अब वो किस का समर्थन कर रहे हैं बुलडोजर वापस करके? हमने आम आदमी पर तो बुलडोज़र चलाया नहीं, बुलडोज़र उन पर चला है जो लोगों की जमीनों पर अवैध कब्जा करते थे, माफिया और डॉन गरीब लोगों की खून पसीने की कमाई चूसकर अवैध निर्माण कर रहे थे, हमने उन्हीं पर बुलडोज़र चलाया है. चाहे वह पश्चिम में आजम खान हो, पूर्वांचल में मुख्तार अंसारी हो या फिर यहां पर अतीक अहमद हो. हमारी सरकार में दम था हमने उन पर बुलडोज़र चलाया है. 

उन्होंने ये भी कहा अतीक अहमद के कब्जे से मुक्त कराई गई जमीन पर जल्द ही गरीबों के लिए मकान बनाए जाएंगे और उनके शिलान्यास के लिए खुद सीएम योगी आदित्यनाथ प्रयागराज आएंगे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×