scorecardresearch
 

बंगाल: पिटाई से घायल 85 वर्षीय महिला की मौत, बीजेपी नेताओं ने TMC को घेरा

उत्तरी दमदम में बीजेपी कार्यकर्ता गोपाल मजूमदार पर कुछ बदमाशों ने हमला किया. इस हमले में 85 साल की बुजुर्ग मां को भी नहीं छोड़ा.

कोलकाता में लगे थे पोस्टर कोलकाता में लगे थे पोस्टर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बंगाल में हमले का शिकार हुईं शोवा मजूमदार की मौत
  • बीजेपी-टीएमसी में आरोप प्रत्यारोप का दौर

पश्चिम बंगाल में चुनाव के बीच जिन बंगाल की बेटी पर पोस्टर वार छिड़ा, अब उनकी मौत हो चुकी है. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर जानकारी दी है और दुख जाहिर करते हुए तृणमूल कांग्रेस को घेरा है. 

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए दुःख व्यक्त किया है. अमित शाह ने ट्वीट किया कि बंगाल की बेटी शोवा मजूमदार जी के निधन से मन व्यथित है. टीएमसी के गुंडों ने उन्हें इतनी बेरहमी से पीटा कि उनकी जान चली गयी.  उन्होंने कहा कि शोवा मजूमदार के परिवार का दर्द और घाव ममता दीदी का लंबे समय तक पीछा नहीं छोड़ेगा. बंगाल, हिंसा-मुक्त कल के लिए लड़ेगा. बंगाल, हमारी बहनों और माताओं के लिए एक सुरक्षित राज्य की लड़ाई लड़ेगा. 

अमित शाह के अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि ईश्वर, वृद्ध मां शोभा मजूमदार जी की आत्मा को शान्ति प्रदान करे. बेटे गोपाल मजूमदार के भाजपा कार्यकर्ता होने के कारण उनको अपनी जान गंवानी पड़ी. उनके बलिदान को सदैव याद किया जाएगा. ये भी बंगाल की मां थी, बंगाल की बेटी थी. बीजेपी हमेशा मां और बेटी की सुरक्षा हेतु लड़ती रहेगी.

पार्टी के दो बड़े नेताओं के अलावा बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने भी इस मसले पर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि हाल ही में हमले का शिकार हुईं 85 वर्षीय शोवा मजूमदार की मौत हो गयी है. मालवीय ने लिखा, 'बंगाल की यह बेटी, किसी की मां, किसी की बहन ... की मौत हो चुकी है. टीएमसी कैडरों द्वारा उनके साथ क्रूरता बरती गई लेकिन ममता बनर्जी को उन पर दया नहीं आई. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि अब उनके परिवार के घावों को कौन ठीक करेगा? टीएमसी की हिंसा की राजनीति ने बंगाल की आत्मा को चोट पहुंचाई है.' 
 

 

क्या है पूरा मामला

उत्तर 24 परगना जिले के निमटा में बीजेपी कार्यकर्ता गोपाल मजूमदार और उनकी 85 वर्षीय मां शोवा मजूमदार पर बदमाशों ने हमला बोला. शोवा का कहना था कि मेरे बेटे को पीटा गया है क्योंकि वह बीजेपी के लिए काम करता है, मुझे दो लोगों द्वारा धक्का भी दिया गया है, मेरे बेटे के सिर पर और उसके हाथ पर चोटें आई हैं, मुझे भी चोटें आई हैं.

शोवा मजूमदार ने कहा था कि मैं न तो बात कर सकती हूं और न ही ठीक से बैठ सकती हूं, बदमाशों की संख्या तीन से चार थी और उन्होंने अपने चेहरे को ढक रखा था, उन्होंने मेरे बेटे से कहा कि चुप रहो और किसी से एक शब्द भी मत कहो, हमें पीटा गया क्योंकि मेरा बेटा भाजपा के साथ काम कर रहा है.

हालांकि, शोवा के एक और बेटे गोविंद मजूमदार ने अपनी मां पर हुए हमले के पीछे बीजेपी का हाथ बताया था. इस बाबत एक वीडियो टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने शेयर भी किया था. गोविंद के बयान के बाद गोपाल ने कहा कि उनसे (गोविंद) से हमारा कोई लेना-देना नहीं है, वो टीएमसी कार्यकर्ता हैं, टीएमसी ने अपने बचाव में उनसे बयान दिलवाया है.

 

टीएमसी सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने कहा था कि 'एक बार फिर भाजपा की गंदी राजनीति सामने आई है, आपसी झगड़े के कारण उत्तरी दमदम के निमटा में एक बूढ़ी महिला की पिटाई की गई, बीजेपी नेतृत्व द्वारा इसे राजनीतिक रंग दिया जा रहा है और टीएमसी पर आरोप लगाया जा रहा है, बीजेपी झूठ फैलाकर लोगों को गुमराह कर रही है.'

बहरहाल, अब बीजेपी नेताओं ने बताया है कि बूढ़ी महिला की मौत हो गई है और पार्टी ने टीएमसी को घेरा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें