scorecardresearch
 

CBSE: अब नए सिस्टम से एक्सेस होंगे 10वीं-12वीं के डॉक्यूमेंट्स, फेस दिखाकर ले सकेंगे

सीबीएसई ने डिजिटल दस्तावेजों को आसानी से डाउनलोड करने के लिए फेशियल रिकग्निशन सिस्टम (FRS) की शुरुआत की है, जिससे अब स्टूडेंट्स बिना आधार और मोबाइल नंबर के ही सिर्फ चेहरा दिखाकर अपना सर्टिफिकेट आसानी से डाउनलोड कर सकेंगे.

CBSE introduces Facial Recognition System CBSE introduces Facial Recognition System

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए अपने डिजिटल डॉक्यूमेंट्स एक्सेस करने के लिए नया सिस्टम लागू किया है. ये फेशियल रिकग्निशन सिस्टम अब छात्रों के लिए मददगार होगा. इस सिस्टम के जरिये चेहरा दिखाने के बाद सर्टिफिकेट सहित अन्य डॉक्यूमेंट्स डाउनलोड किए जा सकेंगे. अब ये दस्तावेज उन्हें डाउनललोड करने के लिए किसी भी तरह के डेटा या पासवर्ड की जरूरत नहीं होगी. सीबीएसई ने ये सुविधा डिजीलॉकर में शुरू किए गए नए सिस्टम में शुरू की है. 

सीबीएसई ने डिजिलॉकर के जरिये डिजिटल दस्तावेजों को आसानी से डाउनलोड करने के लिए फेशियल रिक्गनेशन सिस्टम (Facial Recognition System) की शुरुआत की है. इससे अब स्टूडेंट्स बिना आधार और मोबाइल नंबर के ही सिर्फ चेहरा दिखाकर अपना सर्टिफिकेट आसानी से डाउनलोड कर सकेंगे. इसके लिए उन्हें अपने आधार कार्ड या मोबाइल नंबर की भी कोई जरूरत नहीं होगी. 

इस तरह काम करेगा सिस्टम 

इस प्रक्रिया के तहत स्टूडेंट्स की डिजिटल इमेज डिजीलॉकर में पहले से ही मौजूद रहेगी. एडमिट कॉर्ड की फोटो से चेहरे का मिलान होते ही डिजीलॉकर खुल जाएगा और स्टूडेंट अपना सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकेंगे. कई बार स्टूडेंट्स डिजीलॉकर पासवर्ड या मोबाइल नंबर भूल जाते हैं, तो भी उन्हें अपने दस्तावेज डाउनलोड करने में कोई परेशानी नहीं होगी. ये सुविधा अभी डिजिलॉकर में शुरू की गई है. 

यह भी पढ़ें: 

School Reopen: इस साल मत खोलिए स्कूल, पेरेंट्स ने की दिल्ली CM से ये अपील

Schools Reopen: जानिए कब से खुल रहे हैं KV-JNV, लागू होंगे ये खास नियम

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें