scorecardresearch
 

'तुष्टिकरण नहीं सशक्तिकरण सरकार का लक्ष्य'

'तुष्टिकरण नहीं सशक्तिकरण सरकार का लक्ष्य'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ ही बजट सत्र की शुरुआत हो गई है. राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में सरकार की उपलब्धियों और उनके एजेंडे को सभी के सामने लगा. अपने अभिभाषण में राष्ट्रपति ने एक साथ चुनाव करवाने पर जोर दिया, उन्होंने कहा कि बार-बार चुनाव होने से विकास पर असर पड़ता है. उन्होंने कहा कि सरकार का जोर किसानों की आय को दोगुना करने का है. दाल के उत्पादन में 38 फीसदी की रिकॉर्ड बढ़ोतरी दर्ज हुई है. 99 सिंचाई परियोजना को पूरा करना सरकार का लक्ष्य है, अनाज की बर्बादी को रोकने के लिए सरकार ने योजना बनाई है. उन्होंने कहा कि सरकार के कार्यकाल में यूरिया का उत्पादन बढ़ा है. जनधन योजना के तहत करीब 31 करोड़ बैंक खाते खोल दिए गए हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें