दंगल: अगर कश्मीर शांत है तो क्यों फारूक-मुफ्ती को संसद आने की छूट नहीं?