गुजरात: BJP का डर, पंचायत चुनाव से पहले कांग्रेस ने नेताओं को राज्य से बाहर भेजा

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा कि जिला पंचायतों के निर्वाचित सदस्यों को अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के चुनाव होने तक बाहर भेज दिया गया है.

बीजेपी से नेताओं को बचाने के लिए कांग्रेस ने उठाया कदम
मोहित ग्रोवर
  • नई दिल्ली,
  • 19 जून 2018,
  • अपडेटेड 10:15 AM IST

गुजरात में एक बार फिर कांग्रेस ने अपने नेताओं को चुनाव से पहले राज्य से बाहर भेज दिया है. जिला और तालुका पंचायत प्रमुखों के चुनावों के पहले गुजरात कांग्रेस ने अपने पार्षदों को राज्य के बाहर भेज दिया है. उन्हें सत्तारूढ़ भाजपा द्वारा रिझाने का प्रयास करने की आशंका है.

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा कि जिला पंचायतों के निर्वाचित सदस्यों को अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के चुनाव होने तक बाहर भेज दिया गया है. बताया जा रहा है कि इन सभी नेताओं को राजस्थान भेजा गया है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासित जिला पंचायतों में कांग्रेस पार्षदों को भाजपा द्वारा रिझाने से बचने के लिए हमने उन्हें राज्य से बाहर भेज दिया है. भाजपा द्वारा धन के माध्यम से सत्ता हासिल करने का प्रयास टालने के लिए यह आवश्यक था.

गुजरात में स्थानीय निकाय के चुनाव भले ही पांच वर्षों में होते हैं लेकिन नये प्रमुखों का चुनाव कार्यकाल के माध्यम से बीच में होता है. गौरतलब है कि अहमदाबाद और पाटन के पंचायतों के सदस्य 20 जून को प्रमुखों का चुनाव करेंगे.

आपको बता दें कि इससे पहले भी गुजरात में राज्यसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को बेंगलुरु के एक रिजॉर्ट में भेज दिया था. इसके अलावा भी हाल ही में कर्नाटक में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान भी विश्वास मत से पहले कांग्रेस और जेडीएस ने अपने विधायकों को रिजॉर्ट और होटल में छुपाकर रखा था.

Read more!

RECOMMENDED