जब राज कपूर को अवॉर्ड देने के लिए राष्ट्रपति ने तोड़ा था प्रोटोकॉल

नेहरुवियन समाजवाद से प्रेरित फिल्मों के अलावा उन्होंने कई रोमांटिक फिल्में बनाई और बॉलीवुड में कई शानदार सितारों को भी लॉन्च किया. उनकी फिल्मों का रुतबा ऐसा था कि एक बार देश के राष्ट्रपति ने भी प्रोटोकॉल तोड़कर उनकी बात मानी थी.

राज कपूर
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 14 दिसंबर 2019,
  • अपडेटेड 7:39 AM IST

14 दिसंबर 1924 को बॉलीवुड के सबसे बड़े शौमेन उर्फ राज कपूर का जन्म हुआ था. वे ना केवल बेहतरीन एक्टर थे बल्कि एक कामयाब निर्माता और निर्देशक भी थे. भारत के साथ ही साथ उनकी फिल्में विदेशी धरती खासकर रुस में काफी पसंद की जाती थी. नेहरुवियन समाजवाद से प्रेरित फिल्मों के अलावा उन्होंने कई रोमांटिक फिल्में बनाई और बॉलीवुड में कई शानदार सितारों को भी लॉन्च किया. उनकी फिल्मों का रुतबा ऐसा था कि एक बार देश के राष्ट्रपति ने भी प्रोटोकॉल तोड़कर उनकी बात मानी थी.

दरअसल, भारत के राष्ट्रपति आमतौर पर प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करते हैं और उस दौर में राष्ट्रपति आर. वेंकटरमन भी ऐसा ही करते थे. लेकिन राज कपूर की फिल्म हिना के चैरिटी प्रीमियर के दौरान राज कपूर की स्पिरिट से इंप्रेस होकर उन्हें प्रोटोकॉल तोड़ा था, जिसके चलते राष्ट्रपति के सिक्योरिटी के लिए चिंता की स्थिति पैदा हो गई थी.

राज कपूर की बेटी की बात नहीं टाल पाए राष्ट्रपति

इस फिल्म के इंटरवल में राष्ट्रपति को निकलना था लेकिन वे राज कपूर की बेटी रितु नंदा को मना नहीं कर पाए. दरअसल, रितु चाहती थीं कि राष्ट्रपति वहां मौजूद कपूर खानदान के साथ एक ग्रुप फोटो खिंचवाएं. राष्ट्रपति ने ना केवल फोटो खिंचाई बल्कि पाकिस्तान के हाई कमीशनर अब्दुल सत्तार को भी इन तस्वीरों में शामिल किया. बता दें कि ये पहली भारतीय फिल्म थी जिसके कुछ अंश को पाकिस्तान में भी शूट किया गया था. यूं भी राज कपूर की फिल्म हिना सरहदों को क्रॉस करती एक प्रेम कहानी थी. ऋषि कपूर, जेबा बख्तियार, फरीदा जलाल और सईद जाफरी जैसे सितारे नजर आए थे. ये फिल्म साल 1991 में रिलीज हुई थी और बॉक्स ऑफिस पर ठीक-ठाक प्रदर्शन करने में कामयाब रही थी.

Read more!

RECOMMENDED