scorecardresearch
 

यूपी: कोरोना काल में स्वास्थ्यकर्मियों को योगी सरकार का तोहफा, मानदेय में 25% की बढ़ोतरी

योगी सरकार के अनुसार, अस्पतालों में सेवारत चिकित्सकों, नर्सिंग स्टाफ को कोविड सेवा के दिवसों के लिए वर्तमान वेतन/मानदेय का 25 फीसदी अतिरिक्त देय होगा. यह अतिरिक्त मानदेय ड्यूटी के उपरांत इनके आइसोलेशन अवधि के लिए भी दिया जाएगा. 

Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath (फाइल फोटो) Uttar Pradesh CM Yogi Adityanath (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना काल में यूपी के स्वास्थ्यकर्मियों को तोहफा
  • फ्रंटलाइन वॉरियर्स के मानदेय में 25% की बढ़ोतरी

UP govt announced increase salary or honorarium of healthcare frontline workers: कोरोना संक्रमण की बेकाबू रफ्तार के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य विभाग के फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए बड़ा ऐलान किया है. सीएम योगी ने कहा कि अस्पतालों में सेवारत डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ को कोविड सेवा के दिवसों के लिए 25 फीसदी अतिरिक्त राशि दी जाएगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है. उन्होंने कहा कि कोविड का वर्तमान स्ट्रेन लगातार रूप बदल रहा है. कोरोना के कुछ मामलों में देखा गया है कि कोविड टेस्ट में भी संक्रमण की पुष्टि नहीं हो रही है, जबकि सीटी स्कैन में पता लग रहा कि लंग्स कोविड से प्रभावित हैं. ऐसे में अधिक सतर्कता के साथ काम करने की जरूरत है.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड से संबंधित ड्यूटी कर रहे सभी स्वास्थ्यकर्मियों, चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ, हाउसकीपिंग स्टाफ, स्वच्छता कर्मियों, आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आदि की कर्तव्यपरायणता अच्छा उदाहरण है. सरकार ऐसे कार्मिकों के प्रोत्साहन के लिए अतिरिक्त मानदेय देगी.

सरकार के अनुसार, अस्पतालों में सेवारत चिकित्सकों, नर्सिंग स्टाफ को कोविड सेवा के दिवसों के लिए वर्तमान वेतन/मानदेय का 25 फीसदी अतिरिक्त देय होगा. इसी प्रकार अन्य कोरोना वॉरियर्स को भी अतिरिक्त मानदेय प्रदान किया जाएगा. यह अतिरिक्त मानदेय ड्यूटी के उपरांत इनके आइसोलेशन अवधि के लिए भी दिया जाएगा. 

इसके अलावा मेडिकल/नर्सिंग फाइनल ईयर के छात्र-छात्राओं की सेवाएं भी कोविड सेवा कार्य में ली जाएंगी. सीएम ने निर्देश दिए कि अनुभवी चिकित्सको, एक्स सर्विस मैन के अनुभवों का भी उपयोग करते हुए उन्हें कोविड कार्य से जोड़ा जाएगा और सभी को नियमानुसार मानदेय प्रदान किया जाएगा. 

बता दें कि कोविड संक्रमण की स्थिति को देखते हुए प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है. मेडिकल एजुकेशन, स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ निजी अस्पतालों को भी कोविड मरीजों के उपचार के लिए क्रियाशील किया गया है. लखनऊ और वाराणसी में डीआरडीओ के सहयोग से सभी सुविधाओं से युक्त नया कोविड अस्पताल भी तैयार किया जा रहा है. जल्द ही केजीएमयू में 140 बेड और बढ़ जाएंगे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें