scorecardresearch
 

अब नारायण राणे बोले- सुशांत राजपूत की हत्या हुई और सीएम का बेटा गिरफ्तार नहीं हुआ

इस मामले में एक मंत्री के शामिल होने का जिक्र करते हुए राणे ने कहा, इस केस में कोई गिरफ्तार नहीं हुआ, क्योंकि वह मुख्यमंत्री का बेटा है. राणे ने कहा, मैंने खुद गवाह दिए कि सुशांत की हत्या बाथरूम में हुई. मैंने हत्या में शामिल लोगों के नाम दिए. लेकिन कोई गिरफ्तार नहीं हुआ. क्योंकि वह मुख्यमंत्री का बेटा है. इसलिए गिरफ्तार नहीं हुआ. सालियान केस में भी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई.

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (फाइल फोटो) केंद्रीय मंत्री नारायण राणे (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने आदित्य ठाकरे पर साधा निशाना
  • राणे का दावा- सुशांत सिंह की हत्या हुई थी

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने मंगलवार को एक्टर सुशांत सिंह राजपूत और दिशा सालियान केस को लेकर विवादास्पद बयान दिया. राणे ने दावा किया कि सुशांत सिंह राजपूत और दिशा सालियान की हत्या हुई. राणे ने अपने बयान में कहा, सुशांत की पूर्व मैनेजर को उसकी इमारत से फेंक कर हत्या कर दी गई. 

इस मामले में एक मंत्री के शामिल होने का जिक्र करते हुए राणे ने कहा, इस केस में कोई गिरफ्तार नहीं हुआ, क्योंकि वह मुख्यमंत्री का बेटा है. राणे ने कहा, मैंने खुद गवाह दिए कि सुशांत की हत्या बाथरूम में हुई. मैंने हत्या में शामिल लोगों के नाम दिए. लेकिन कोई गिरफ्तार नहीं हुआ. क्योंकि वह मुख्यमंत्री का बेटा है. इसलिए गिरफ्तार नहीं हुआ. सालियान केस में भी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. 

राणे ने किया दो केसों का जिक्र
इससे पहले राणे ने सालियान केस में आदित्य ठाकरे पर आरोप लगाए थे. राणे मंगलवार को महाराष्ट्र में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के बारे में बोल रहे थे. इस दौरान उन्होंने राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए सालियान और पूजा चाह्वाण केस का जिक्र किया. पूजा पुणे की छात्रा थी. उसने आत्महत्या कर ली थी. इस केस में महाराष्ट्र के पूर्व कैबिनेट मंत्री संजय राठौड़ जांच का सामना कर रहे हैं. उन्हें इस केस के चलते इस्तीफा भी देना पड़ा था. 

राणे ने कहा, दिशा सालियान की हत्या हुई थी. सुशांत उसका दोस्त था और उसने हत्या को छिपाने से इनकार कर दिया था. इसलिए उसकी भी हत्या कर दी गई. संजय राठौड़ का भी सरकार ने बचाव किया. वे कितने और हत्याओं को छिपाएंगे. इन सबके चलते महाराष्ट्र सरकार विकास के मामले में 10 साल पीछे चला गया. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें