scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: हैदराबाद का नहीं है बाढ़ में बहते ट्रैफिक सिग्नल का वायरल वीडियो

इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक सड़क पर लबालब पानी भर गया है और इस बहते पानी में एक ट्रैफिक सिग्नल पोस्ट को तैरते हुए देखा जा सकता है. फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर कई लोग ये दावा कर रहे हैं कि ये वीडियो हैदराबाद में बारिश के कारण आई बाढ़ के दौरान शूट किया गया है. वीडियो के साथ पोस्ट में लिखा गया है, “ये इतिहास में पहली बार है. सिग्नल सड़क पार कर रहा है.

सोशल मीडिया में वायरल वीडियो का एक दृश्य  सोशल मीडिया में वायरल वीडियो का एक दृश्य

बाढ़ के पानी में बहते हुए ट्रैफिक सिग्नल पोस्ट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि हैदराबाद में मूसलाधार बारिश के बाद ऐसा दृश्य देखने को मिला.
 
हाल ही में राजधानी हैदराबाद सहित तेलंगाना में भयानक बारिश ने खूब तबाही मचाई. इसमें 30 से ज्यादा लोगों की जान चली गई और करीब 5,000 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान लगाया गया है.
 
इसी बीच, इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक सड़क पर लबालब पानी भर गया है और इस बहते पानी में एक ट्रैफिक सिग्नल पोस्ट को तैरते हुए देखा जा सकता है. फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब पर कई लोग ये दावा कर रहे हैं कि ये वीडियो हैदराबाद में बारिश के कारण आई बाढ़ के दौरान शूट किया गया है. वीडियो के साथ पोस्ट में लिखा गया है, “ये इतिहास में पहली बार है. सिग्नल सड़क पार कर रहा है. #Hyderabad Rains”.  

सोशल मीडिया में फेक दावा किया जा रहा
सोशल मीडिया में फेक दावा किया जा रहा

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वीडियो के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. वायरल वीडियो दो साल पुराना है और चीन के युलिन शहर का है.

कुछ वायरल पोस्ट के आर्काइव यहां, यहां, यहां और यहां देखे जा सकते हैं. ये पोस्ट फेसबुक पर खूब वायरल है.

सच का सुराग
वीडियो को गौर से देखने पर हमने पाया कि कुछ दुकानों के साइनबोर्ड और टू ​व्हिलर के पीछे लगे स्टिकर मंदारिन भाषा में है. इसे देखते हुए वीडियो के साथ किए जा रहे दावे पर शक पैदा हुआ.  

वीडियो के कुछ कीफ्रेम्स काटकर सर्च करने पर हमें इस वीडियो का लंबा वर्जन मिला. ये वीडियो यू​ट्यूब पर चाइना ग्लोबल टेलीविजन नेटवर्क (CGTN) की ओर से 11 मई, 2018 को अपलोड किया गया था.  
 
वीडियो के साथ शीर्षक में लिखा है, “नाटकीय पल: चीन में ‘वॉकिंग’ ट्रैफिक लाइट सड़क पर आई बाढ़ में बह गई”. CGTN के मुताबिक, ये वीडियो दक्षिणी चीन के गुआंग्शी जुआंग स्वायत्त क्षेत्र के युलिन शहर में शूट किया गया, जिसमें एक ट्रैफिक सिग्नल सड़क पर भरे पानी में बहता हुआ दिख रहा है.  

हमें चीनी मीडिया में छपी कुछ रिपोर्ट भी मिलीं, जिनमें कहा गया है कि 2018 में गुआंग्शी जुआंग में हुई भारी बारिश में 70,000 लोग प्रभावित हुए थे.
 
ये वीडियो क्लिपिंग पिछले साल भी इस झूठे दावे के साथ वायरल हुई थी. तब इसे मुंबई का बताया गया था. फैक्ट चेक वेबसाइट 'बूमलाइव' ने इस दावे का खंडन भी किया था. 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

सड़क पर भरे पानी में बहते ट्रैफिक सिग्नल का ये वीडियो हैदराबाद का है.

निष्कर्ष

वायरल वीडियो 2018 में चीन के यूलिन शहर में शूट किया गया था, जब वहां भारी बारिश के दौरान आई बाढ़ में एक ट्रैफिक सिग्नल बह गया था.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें