scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: केजरीवाल ने नहीं की है कोयला दान करने की अपील, फर्जी है ये विज्ञापन

कोयले की कमी के चलते देश के कई राज्यों में बिजली का संकट पैदा हो गया है और ब्लैकआउट का खतरा मंडरा रहा है. इस खतरे पर चिंता जताते हुए हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को पत्र लिखा था.

सोशल मीडिया में वायरल पोस्ट की क्या है सच्चाई सोशल मीडिया में वायरल पोस्ट की क्या है सच्चाई

कोयले की कमी के चलते देश के कई राज्यों में बिजली का संकट पैदा हो गया है और ब्लैकआउट का खतरा मंडरा रहा है. इस खतरे पर चिंता जताते हुए हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी को पत्र लिखा था.

इस संकट के बीच सोशल मीडिया पर हिंदुस्तान अखबार के एक कथित विज्ञापन का पेज वायरल हो रहा है जिसमें दिल्ली के सीएम केजरीवाल की फोटो के साथ लिखा है, ‘बिजली की कमी दूर करने के लिए कोयला दान देकर दिल्ली सरकार की मदद करें.’ आगे लिखा है, ‘आपका एक तसल्ला कोयला पूरे दिल्ली का अंधेरा दूर कर सकता है’.

इस विज्ञापन को शेयर करते हुए एक ट्विटर यूजर ने लिखा, “बिजली की कमी दूर करने के लिए दिल्ली वासी अपने घरों का कोयला दान करें!!#केजरी_के_हसीन_सपने.”

इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर एडिटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से तैयार की गई है. असली विज्ञापन जुलाई 2021 में हिंदुस्तान अखबार के मुजफ्फरपुर एडिशन में छपा था. इसमें दिल्ली के सीएम केजरीवाल की तस्वीर के साथ कोविड मृतकों के परिजनों की आर्थिक मदद का संदेश लिखा था.

क्या है सच्चाई

हमने देखा कि कोयला दान करने की अपील करने वाले कथित विज्ञापन को जिन लोगों ने शेयर किया है, उनमें से कई में नीचे की ओर ‘सेटायर’ शब्द लिखा है. कई लोगों ने इस शब्द को हटाने के बाद तस्वीर शेयर की है, ताकि लोग इसे सेटायर यानी मजाक के बजाए दिल्ली सरकार का असली विज्ञापन समझें.

इस विज्ञापन के मास्टहेड में तारीख 9 जुलाई 2021 दिख रही है. साथ ही, मुजफ्फरपुर और बिहार भी लिखा है.

इन जानकारियों की मदद से हमने लाइव हिंदुस्तान की वेबसाइट पर 9 जुलाई 2021 को छपे मुजफ्फरपुर, बिहार एडिशन का ई-पेपर देखा. हमने पाया कि 9 जुलाई को इसके पेज नंबर 1 पर दिल्ली सरकार का एक विज्ञापन छपा था. इस विज्ञापन में ‘मुख्यमंत्री कोविड 19 सहायता योजना’ की जानकारी दी गई थी. हमने इस विज्ञापन से वायरल विज्ञापन की तुलना की. साफ देखा जा सकता है कि असली विज्ञापन में लिखी जानकारियां हटाकर उसमें ‘बिजली की कमी दूर करने के लिए कोयला दान देकर दिल्ली सरकार की मदद करें.’ और ‘आपका एक तसल्ला कोयला पूरे दिल्ली का अंधेरा दूर कर सकता है’ वाक्य अलग से जोड़े गए हैं.

साफ है कि मजाक के तौर पर एडिटिंग सॉफ्टवेयर के जरिये बनाए गए एक विज्ञापन को लोग हिंदुस्तान अखबार में छपा दिल्ली सरकार का असली विज्ञापन समझ रहे हैं और इसके जरिये केजरीवाल सरकार पर तंज कस रहे हैं.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

ये ‘हिंदुस्तान’ अखबार में छपा एक विज्ञापन है जिसके जरिये दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से कोयला दान करने की अपील की है.

निष्कर्ष

ये विज्ञापन एडिटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से तैयार किया गया है. असली विज्ञापन कोविड मृतकों के परिजनों की मदद से जुड़ा था जो 9 जुलाई 2021 को छपा था.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें