scorecardresearch
 

स्कूलों में पढ़ाया जाएगा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, CBSE कोर्स में होगा शामिल

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्ध स्कूलों में अब आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) को एक विषय के तौर पर पढ़ाया जाएगा. केंद्र सरकार ने इसके लिए पाठ्यक्रम तैयार कर लिया है.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों में अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को एक विषय के तौर पर पढ़ाया जाएगा. केंद्र सरकार ने इसके लिए पाठ्यक्रम तैयार कर लिया है.

पहले चरण में इस विषय को कक्षा नौवीं से लागू किया जाएगा. इसके बाद 8वीं और 10वीं कक्षा में भी इसे पढ़ाने की योजना है. स्कूलों में लागू करने के लिए सरकार माइक्रोसॉफ्ट इंटेल, आईबीएम जैसी कंपनियों से मदद लेगी. इस संबंध में सीबीएसई से संबद्ध सभी स्कूलों को दिशा निर्देश भेजे गए हैं. केंद्र सरकार की ओर से देश के विभिन्न भागों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के नए कोर्स को लागू करने के लिए 40 से अधिक ट्रेनिंग प्रोग्राम कराए जा चुके हैं.

यहां पढ़ाया जाएगा

CBSE इस नए कोर्स को केंद्रीय विद्यालय, नवोदय विद्यालय, केंद्र सरकार से संबद्ध स्कूलों के अलावा सभी निजी स्कूलों में भी लागू करने जा रहा है. इसके लिए सरकार ने 12 घंटे का एक Anspire module भी तैयार किया है. कोर्स के बारे में डिटेल सीबीएसई स्कूलों को भेजी जा चुकी है. इसे वेबसाइट पर भी लोड किया गया है.

इन कंपनियों से किया गया समझौता

केंद्र सरकार ने माइक्रोसाफ्ट इंटेल, आईबीएम जैसी कंपनियों से इसके लिए एग्रीमेंट किया है. ये कंपनियां पहले दौर में शिक्षकों एवं प्रधानाचार्यों को प्रशिक्षित करेंगी. देश के कई शहरों में प्रशिक्षण का काम शुरू हो गया है, जिन स्कूलों में प्रशिक्षण पूरा हो गया है, वहां विषय को पढ़ाया भी जा रहा है.

50 अंक का होगा पेपर

इसकी पहली यूनिट में 10 अंक का सैद्धांतिक और 10 अंक की प्रयोगात्मक परीक्षा होगी.

दूसरी यूनिट में 10 अंक की सैद्धांतिक और 10 अंक की प्रयोगात्मक परीक्षा होगी.

तीसरी यूनिट में10 अंक की सैद्धांतिक और 10 अंक की प्रयोगात्मक परीक्षा होगी.

चौथी यूनिट में 20 अंक की सैद्धांतिक और 10 अंक की प्रयोगात्मक  परीक्षा है.

पांचवीं यूनिट में सिर्फ 10 अंक की प्रयोगात्मक परीक्षा होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें