दिल्ली पुलिस ने पकड़ा नकली आईएएस अधिकारी, नौकरी का झांसा देकर करता था ठगी

आरोपी लोगों से कहता था कि वो एक आईएएस अधिकारी है. आरोपी जहां भी जाता था वो अपना कैडर दूसरे राज्य का बताता था और फिर उसके बाद वो इस तरह बातचीत करता था कि कभी किसी को उस पर शक नहीं होता था.

गिरफ्तार आरोपी
हिमांशु मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 01 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 8:25 PM IST

  • नौकरी दिलाने के नाम पर करता था ठगी
  • कुछ दिनों में ठगे करीब पौने दो करोड़ रुपए

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो खुद को आईएएस अधिकारी बताकर नौकरी दिलाने का वादा करता था और उनसे बड़ी रकम ठग लेता था. पुलिस ने बताया कि नौकरी दिलाने के नाम पर आरोपी ने कुछ दिनों में ही करीब पौने दो करोड़ रुपए ठगे थे. पुलिस फिलहाल ये पता लगाने में लगी है कि आरोपी ने अब तक कितने लोगों को ठग चुका है.

पुलिस के मुताबिक जावेद दिल्ली के जवाहर लाल यूनिवर्सिटी से बीए कर चुका है. इसके बाद जावेद अख्तर ने कुछ दिनों तक सिविल सर्विसेज की तैयारी भी की लेकिन उसे सफलता नहीं मिल सकी. जिसके बाद आरोपी ने लोगों को ठगने का धंधा शुरु कर दिया.

ठगी में कमाये पौने दो करोड़ रुपए

पुलिस के मुताबिक शातिर ठग का नाम जावेद अख्तर है. आरोपी लोगों से कहता था कि वो एक आईएएस अधिकारी है. आरोपी जहां भी जाता था वो अपना कैडर दूसरे राज्य का बताता था और फिर उसके बाद वो इस तरह बातचीत करता था कि कभी किसी को उस पर शक नहीं होता था.

यही नहीं वो अपनी ऊंची पहुंच बताकर लोगों के नौकरी दिलाने का वादा करता था. इसके बाद अगर कोई इसकी बात में फंस जाता तो फिर ये उससे पैसों की मांग करता था. पुलिस के मुताबिक अभी तक उन्हें पता लगा कि कुछ दिनों में ही जावेद ने करीब पौने दो करोड़ रुपए लोगों से नौकरी दिलाने के नाम पर लिए हैं.

जम्मू में भी हैं आरोपी पर दो केस दर्ज

जानकारी के मुताबिक जावेद के खिलाफ दो केस जम्मू में दर्ज हैं. इसके अलावा दिल्ली में भी कई शिकायतें और केस जावेद के खिलाफ दर्ज हैं. यही नहीं अलीगढ़ में भी जावेद के खिलाफ कई केस दर्ज हैं.

पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर में एक शख्स ने शिकायत दी की एक शख्स जो की खुद को आईएएस अधिकारी बताकर उसने नौकरी दिलाने का वादा किया. उसके बाद उसने नौकरी दिलाने के नाम पर उसने लाखों रुपए ले लिए और बाद में फोन उठाना भी बंद कर दिया. इसके बाद पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर जांच शुरु की और फिर जावेद अख्तर को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस का कहना है कि अभी इस पूरे केस की जांच की जा रही है और दूसरे राज्यों की पुलिस से भी बातचीत की जा रही है ताकि ये पता लगाया जा सके कि जावेद ने अब तक कितने लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है.

Read more!

RECOMMENDED