प्रेमी संग रची पति की हत्या की साजिश, मेरठ से दिल्ली आए थे कातिल

पुलिस को ये बात बड़ी अजीब लगी कि आधी रात को कोई बाहर इस तरह क्यों टहलेगा? सीसीटीवी देखने पर पुलिस को पता लगा कि इससे पहले सुरेश की पत्नी अंजू कभी रात के वक्त टहलने नहीं गई थी, इस वजह से पुलिस का पहला शक अंजू पर गया.

पति की हत्या के आरोप में पत्नी गिरफ्तार
हिमांशु मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 16 जून 2019,
  • अपडेटेड 8:40 AM IST

दिल्ली पुलिस ने पॉश इलाके साउथ एवेन्यू में एमपी कोठी के सर्वेंट क्वॉटर में हुई कत्ल की गुत्थी को सुलझा लिया है. पुलिस ने कत्ल के आरोप में मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी शिवम को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक दोनों ने महज सात हजार रुपये की सुपारी देकर सुरेश का कत्ल करवा दिया था.

सात जून को दिल्ली पुलिस के कंट्रोल रूम में फोन आया कि साउथ एवेन्यू में एक सांसद के सर्वेंट क्वॉटर में एक शख्स की हत्या कर दी गई है. पुलिस की टीम तुरंत मौके पर पहुंची तो देखा कि फर्श पर खून से लथपथ एक लाश पड़ी थी, पूछताछ में पता चला कि जिस वक्त सुरेश की हत्या की गई उस वक्त वो घर में अकेला था, जबकि उस मकान में सुरेश अपने तीन बच्चों और पत्नी के साथ रहता था. सुरेश की पत्नी ने पुलिस को बताया कि वो अपने तीनों बच्चों के साथ रात के वक्त बाहर टहल रही थी.

पुलिस को ये बात बड़ी अजीब लगी कि आधी रात को कोई बाहर इस तरह क्यों टहलेगा? सीसीटीवी देखने पर पुलिस को पता लगा कि इससे पहले सुरेश की पत्नी अंजू कभी रात के वक्त टहलने नहीं गई थी, इस वजह से पुलिस का पहला शक अंजू पर गया.

मुखबिरों के जरिये पुलिस को पता लगा कि सुरेश के कत्ल में मेरठ के बदमाश शामिल हैं, जिसके बाद पुलिस ने दबिश देकर शिवम नाम के एक लड़के को पकड़ लिया. पुलिस को शिवम के पास से एक फोन मिला, जिसके बारे में किसी को जानकारी नहीं थी. उसमें भी अंजू का नंबर सेव था. अंजू के पास भी दो नंबर थे, एक फोन के बारे में सबको पता था, पर दूसरे फोन के बारे में किसी को जानकारी नहीं थी. पुलिस को पता चला कि शिवम और अंजू ने कत्ल की साजिश रचने के लिए ही ये सीक्रेट नंबर लिया था और इस नंबर पर ये व्हाट्सऐप कॉल किया करते थे.

शिवम को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने अंजू को भी गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में अंजू ने पुलिस को बताया कि उसका पति उसके साथ मारपीट और बेहद परेशान करता था, जिसकी वजह से उसकी दोस्ती शिवम से हो गई. शिवम अंजू का दूर का रिश्तेदार था, दोनों बेहद करीब आ गए.

अंजू का कहना है कि कुछ दिन पहले ही जब सुरेश ने उसके साथ मारपीट की थी तो उसने शिवम को इसके बारे में बताया था. बस उसी दिन दोनों ने सुरेश के कत्ल की साजिश रच ली थी. इसके लिए सबसे पहले दोनों ने फोन खरीदे. फिर शिवम ने मेरठ के दो सुपारी किलर से महज सात हजार रुपयों में कत्ल की बात तय की और साथ में अपने नाबालिग भाई को भेज दिया. सात जून को रात साढ़े बारह बजे अंजू टहलने के बहाने घर से बाहर आ गई और मौका देखकर कातिलों ने सुरेश का कत्ल कर दिया. पुलिस ने इस मामले में शिवम को गिरफ्तार कर लिया जबकि उसके नाबालिग भाई को पकड़ने के बाद सुधार गृह भेज दिया है.

Read more!

RECOMMENDED