साइंस न्यूज़

मंगल ग्रह पर दिखा इंसानी पुट्ठे जैसा पत्थर, तस्वीर हो रही वायरल

aajtak.in
  • ह्यूस्टन,
  • 30 नवंबर 2021,
  • अपडेटेड 1:03 PM IST
  • 1/8

मंगल ग्रह पर इंसान के पुट्ठे (Butt) जैसी आकृति का एक पत्थर मिला था. इसे मार्स पर्सिवरेंस रोवर (Perseverance Rover) ने खोजा था. यह रोवर तो गया है मंगल ग्रह पर बेहद सीरियस काम करने लेकिन कभी-कभी इसकी खोज के चलते लोग हंसने को मजबूर हो जाते हैं. साथ ही हैरान भी होते हैं. अब इंसानी पुट्ठे की तरह दिखने वाला यह पत्थर इकलौता नहीं है, जिसकी फोटो वायरल हुई है. इससे पहले भी लाल ग्रह पर हरा पत्थर दिखा था. डायनासोर के मुंह जैसा पत्थर दिखा था. मछली के आकार और इंसानी चेहरे जैसी आकृतियां दिखाई दी थीं.  (फोटोः केविन एम. गिल)

  • 2/8

नासा के पर्सिवरेंस रोवर को जून में यह पत्थर दिखा था. रोवर ने इसकी तस्वीर जब नासा हेडक्वार्टर्स में भेजी तो साइंटिस्ट हैरान रह गए. नासा की जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी ने इसे बट क्रैक रॉक (Butt Crack Rock) नाम दिया है. असल इस फोटो को सबसे पहले जेपीएल में काम करने वाले डेटा और सॉफ्टवेयर इंजीनियर केविन एम. गिल ने देखा था. उन्होंने ट्वीट किया था कि हमें बट क्रैक रॉक मिला है.  (फोटोः केविन एम. गिल)

  • 3/8

केविन एम. गिल रोवर द्वारा भेजी गई खराब और टूटी-फूटी फोटोग्राफ्स को जोड़कर एक पूरी तस्वीर बनाने का काम भी करते हैं. कई बार उन्होंने ऐसी चीजें खोजी हैं, जो दुनिया भर को हैरानी में डाल देती हैं. साथ ही इन्हें देखकर खुशी भी होती है. यानी मंगल ग्रह की तस्वीरों से आपको एक हास्यास्पद राहत भी मिलती है. जैसे इस पत्थर को ही देख लीजिए... ये किसी ब्राचियोसॉरस (Brachiosaurus) डायनासोर की गर्दन की तरह दिखता है. हां बस आकार कम है. (फोटोः केविन एम. गिल)

  • 4/8

इससे अलावा लाल ग्रह यानी मंगल पर जब किसी भी अन्य रंग के होने की उम्मीद नहीं होती, तब नासा के पर्सिवरेंस रोवर ने एक हरे पत्थर की खोज की थी.  नासा के मार्स पर्सिवरेंस रोवर को यह पत्थर तब दिखा जब वह इंजीन्यूटी हेलिकॉप्टर को सतह पर उतारने के बाद आगे बढ़ रहा था. इस रहस्यमयी हरे रंग के पत्थर की असलियत का खुलासा अभी नहीं हुआ है. ये कहां से आया है. (फोटोः NASA)

  • 5/8

ये किस चीज से बना है. लेकिन इसमें छोटे-छोटे गड्ढे हैं और बीच-बीच में चमकदार हरे रंग के क्रिस्टल जैसी वस्तु. यह रोशनी पड़ने पर तेजी से चमक जाती है. NASA पर्सिवरेंस रोवर ने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा है कि इंजीन्यूटी हेलिकॉप्टर को मंगल की सतह पर उतारने के बाद हमारी टीम ने इस हरे पत्थर (Martian Green Rock) को देखा. इसी तस्वीरें रोवर पर लगे अलग-अलग कैमरों से ली गई. फिलहाल हमारे पास इसे लेकर सिर्फ हाइपोथीसिस है. (फोटोः NASA)
 

  • 6/8

नासा के साइंटिस्ट्स हैरान है कि ये पत्थर अगर मंगल ग्रह के लोकल बेडरॉक का हिस्सा है तो इसका रंग ऐसा कैसे है? या तो यह किसी अंतरिक्षीय गतिविधि से यहां पर आया है. या फिर ये कोई उल्कापिंड का टुकड़ा है. या कुछ और? जब तक इस पत्थर की जांच नहीं हो जाती तब तक कुछ भी कहना मुश्किल है. (फोटोः NASA)

  • 7/8

नासा का वाइकिंग-1 ऑर्बिटर ने साल 1976 में जब मंगल ग्रह के चारों तरफ चक्कर लगा रहा था, तब उसे एक ऐसी तस्वीर दिखी जो ऐतिहासिक बन चुकी है. इस तस्वीर में मंगल ग्रह की सतह पर इंसानी चेहरा (काले घेरे में) दिखाई दे रहा है. अगर आपके पास कलात्मक दिमाग है तो आप सतह पर इस घेरे के अंदर दो आंखें, एक नाक, एक मुंह और अजीब हेयरस्टाइल भी देख सकेंगे. (फोटोः NASA)

  • 8/8

नासा के क्यूरियोसिटी रोवर ने मंगल ग्रह पर मछली के आकार का पत्थर देखा था. इसकी तस्वीर सामने आते ही एलियन से प्रेम करने वाले लोगों ने कई तरह की कहानियां बनानी शुरु कर दी थीं. हालांकि यह एक पत्थर था जो किसी तरह से वह मछली जैसे आकार में बदल गया था. (फोटोः NASA)

लेटेस्ट फोटो