मुस्लिमों की दाढ़ी पर चढ़ रहा केसरिया रंग, जानें क्या है मजहब से कनेक्शन

एशिया और मिडिल-ईस्ट समेत बांग्लादेश में इन दिनों बुजुर्गों की दाढ़ी पर नया रंग चढ़ता दिख रहा है. बांग्लादेश की राजधानी ढाका की गलियों में ज्यादातर बुजुर्ग लंबी-नारंगी दाढ़ी के साथ नजर आ रहे हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर
aajtak.in/aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 21 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 6:13 PM IST

  • बांग्लादेश में बुजुर्ग दाढ़ी को नारंगी रंग देने के लिए मेहंदी का इस्तेमाल कर रहे हैं
  • मेहंदी से दाढ़ी के सफेद-ग्रे बाल को ही नारंगी होते हैं, जबकि काले बालों पर इसका कोई असर नहीं होता.

एशिया और मिडिल-ईस्ट समेत बांग्लादेश में इन दिनों बुजुर्गों की दाढ़ी पर नया रंग चढ़ता दिख रहा है. बांग्लादेश की राजधानी ढाका की गलियों में ज्यादातर बुजुर्ग लंबी-नारंगी दाढ़ी के साथ नजर आ रहे हैं. अपनी दाढ़ी को नारंगी रंग देने के लिए बुजुर्ग यहां मेहंदी का इस्तेमाल कर रहे हैं.

अपने इस नए बियर्ड लुक को लेकर ताहेर कहते हैं, 'मुझे दाढ़ी पर मेहंदी लगाना काफी पसंद है. मेहंदी लगाने के बाद दाढ़ी का रंग जो निखरकर सामने आता है उससे मिलने वाली खुशी को बयां करना जरा मुश्किल है. मैं अपनी दाढ़ी के मजबूत बालों को लेकर भी काफी खुश हूं.'

ताहेर कहते हैं, 'मेहंदी की सबसे अच्छी बात ये होती है कि यह आपकी दाढ़ी के सफेद और ग्रे कलर के बालों को ही नारंगी रंग में रंगती है, जबकि काले रंग के बालों पर इसका कोई असर नहीं होता है. इसके अलावा बालों की सेहत और आपकी स्किन को भी किसी तरह का खतरा नहीं होता.'

ढाका में महीन हेयर ड्रेसर्स के यहां काम करने वाले शुवो दास कहते हैं कि पिछले काफी समय से ये ट्रेंड बाजार से लगभग गायब हो चुका था. लेकिन अब ऐसे कई ग्राहक हैं जो हर सप्ताह उनके यहां दाढ़ी, मूंछ और बालों पर मेहंदी की डाई करवाने आते हैं. सफेद बालों से छुटकारा पाने का ये बेहद सस्ता और टिकाऊ साधन है. इससे सिर्फ 40 मिनट में बाल सफेद से नारंगी हो जाते हैं.

दाढ़ी के रंग का मजहब से कनेक्शन

बांग्लादेश में नारंगी दाढ़ी रखने वाले बुजुर्गों की तादाद बहुत ज्यादा है. कुछ लोग नारंगी दाढ़ी का मजहब से भी खास कनेक्शन बताते हैं. उनका कहना है कि कई मजहबी किताबों में पैगंबर मुहम्मद के बालों में डाई करने का जिक्र है. इसलिए कई लोग इस रंग की दाढ़ी के साथ खुद को उनका अनुयायी बताते हैं.

Read more!

RECOMMENDED