सेना के जज्बे को सलाम, हिमस्खलन में फंसे 14 लोगों को बचाया

 द्रास सेक्टर में चरवाहा परिवार के फंसे होने की खबर मिली. इसके बाद सेना के एक युवा अधिकारी ने कंपनी ऑपरेटिंग बेस का नेतृत्व किया और तुरंत मौके पर पहुंच कर बचाव कार्य शुरू किया.

मुश्किल हालात में 14 लोगों की बचाई जान
अशरफ वानी
  • श्रीनगर,
  • 14 जून 2019,
  • अपडेटेड 11:00 AM IST

भारतीय सीमाओं पर तैनात सेना हर नागरिक को चैन से जीने के लिए सुरक्षित माहौल प्रदान करती है. लगभग हर दिन सेना प्राकृतिक और मानवीय चुनौतियों का सामना कर जंग जीतती है. भीषण गर्मी और बर्फीले पहाड़ों पर तैनात सेना को देश का हर नागरिक सलाम करता है.

सेना ने एक बार फिर प्राकृतिक आपदा से लोगों को बचाकर मिसाल पेश की है. पश्चिमी लद्दाख की मश्कोह घाटी में सेना ने हिमस्खलन के कारण बर्फ में फंसे चरवाहों की जान बचाई है. 12 जून को जैसे ही सेना को द्रास सेक्टर में लोगों के फंसे होने की खबर मिली वैसे ही त्वरित कार्रवाई कर सेना ने लोगों को जिंदा निकाला.

बुधवार सुबह को द्रास सेक्टर में चरवाहा परिवार के फंसे होने की खबर मिली. इसके बाद एक युवा अधिकारी ने कंपनी ऑपरेटिंग बेस (सीओबी) का नेतृत्व किया और तुरंत मौके पर पहुंच कर बचाव कार्य शुरू किया.

सेना ने रेस्क्यू कर 14 लोगों की जान बचाई. इसमें घायल हुए लोगों का इलाज करवाया गया, जो बर्फ में दब कर घायल हो गए थे. ये लोग चरवाहा परिवार से थे जिनके अस्थाई शिविर हिमस्खल के कारण बर्फ के नीचे दब गए थे. इसके बाद लोगों ने सेना का शुक्रिया अदा किया.

Read more!

RECOMMENDED