2011 WC फाइनल: श्रीलंका पुलिस ने फिक्सिंग जांच बंद की, कोई सबूत नहीं मिला

श्रीलंका पुलिस ने 2011 विश्व कप फाइनल में भारत से अपनी टीम को मिली हार के फिक्स होने के आरोपों की जांच शुक्रवार को बंद कर दी.

Sri Lankan skipper Kumar Sangakkara had won the toss twice in 2011 World Cup final (File)
aajtak.in
  • कोलंबो,
  • 03 जुलाई 2020,
  • अपडेटेड 6:10 PM IST

श्रीलंका पुलिस ने 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में भारत से अपनी टीम को मिली हार के फिक्स होने के आरोपों की जांच शुक्रवार को बंद कर दी. उसने कहा कि उसे दिग्गज क्रिकेटर कुमार संगकारा और महेला जयवर्धने के बयान रिकॉर्ड करने के बाद इसका कोई सबूत नहीं मिला है.

पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगमगे ने आरोप लगाया था कि फाइनल मैच फिक्स था, जिससे पुलिस के विशेष जांच विभाग ने जांच शुरू की थी. पुलिस अधीक्षक जगत फोनसेका ने पत्रकारों से कहा, ‘हम यह रिपोर्ट खेल मंत्रालय के सचिव को भेज रहे हैं, जिन्होंने हमें निर्देश दिया था. हमने आज अंदरूनी चर्चा के बाद जांच समाप्त कर दी है.’

चंडीगढ़ में लंका Uva लीग मैच के तौर पर स्ट्रीमिंग की जांच में जुटा BCCI

फोनसेका खेल से संबंधित अपराधों को रोकने के लिए विशेष जांच इकाई के प्रमुख हैं. उनके अनुसार अलुथगमगे ने 14 अंकीय आरोप लगाए थे, जिनकी पुष्टि नहीं की जा सकी. फोनसेका ने कहा, ‘हमें कोई कारण नहीं दिखता कि खिलाड़ियों से और पूछताछ क्यों की जाए’

जांच इकाई ने उस समय के मुख्य चयनकर्ता अरविंद डि सिल्वा के अलावा फाइनल में टीम के कप्तान संगकारा, सलामी बल्लेबाज उपुल थरंगा और महेला जयवर्धने से पूछताछ की.

टॉस किसने जीता- धोनी या संगा? 2011 WC कप फाइनल में हुआ था ये कन्फ्यूजन

फोनसेका ने कहा कि तीन क्रिकेटरों ने बताया कि फाइनल में अचानक टीम में बदलाव क्यों किए गए थे, जो अलुथगमगे के लगाए आरोपों में से एक था. उन्होंने कहा, ‘हमें लगा कि सभी खिलाड़ियों को बुलाकर बयान दर्ज कराने से अनावश्यक हो हल्ला होगा.’

Read more!

RECOMMENDED