MP: पत्नी के मोबाइल पर आए मैसेज से खत्म हुआ ठगी के मास्टरमाइंड का खेल

सिमरन सिंह ने मुंबई निवासी राजेन्द्र गुणेकर को नींद की गोलियां खिलाकर उनके खाते से 2 लाख रुपये निकाले. बैंक की ऑटोमेटेड सेवा के तहत इसका मैसेज उनकी पत्नी के मोबाइल फोन पर गया. पत्नी ने इतनी बड़ी रकम निकाले जाने का मैसेज देखा तो पति को फोन लगाया लेकिन फोन सिमरन सिंह के पास था और उसने फोन रिसीव नहीं किया. पत्नी को राजेन्द्र ने बता रखा था कि वह किस होटल में रुके हैं.

सिमरन सिंह ने राजेन्द्र गुणेकर को नींद की गोलियां खिला उनके खाते से 2 लाख रुपये निकाले
रवीश पाल सिंह
  • भोपाल,
  • 20 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 11:02 AM IST

  • खाते से निकले दो लाख तो पत्नी को हुई अनहोनी की आशंका
  • पत्नी की कॉल पर होटल पहुंची पुलिस तो बेसुध मिले गुणेकर

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पकड़े गए ठगी के मास्टरमाइंड सिमरन सिंह के मामले में पुलिस ने नया खुलासा किया है. सिमरन सिंह इस बार भी ठगी करके भाग जाने में कामयाब हो जाता, लेकिन मोबाइल पर आए एक मैसेज ने उसका खेल खत्म कर दिया.

एएसपी संजय साहू के मुताबिक सिमरन सिंह ने मुंबई निवासी राजेन्द्र गुणेकर को नींद की गोलियां खिलाकर उनके खाते से 2 लाख रुपये निकाले. बैंक की ऑटोमेटेड सेवा के तहत इसका मैसेज उनकी पत्नी के मोबाइल फोन पर गया. पत्नी ने इतनी बड़ी रकम निकाले जाने का मैसेज देखा तो पति को फोन लगाया लेकिन फोन सिमरन सिंह के पास था और उसने फोन रिसीव नहीं किया. पत्नी को राजेन्द्र ने बता रखा था कि वह किस होटल में रुके हैं.

किसी अनहोनी की आशंका से परेशान पत्नी ने भोपाल पुलिस कंट्रोल रूम को फोन लगाया. एमपी नगर थाने का नंबर लेने के बाद टीआई का नंबर लिया और फोन कर अनहोनी की आशंका जताते हुए उस होटल के संबंध में जानकारी दी, जहां गुणेकर ठहरे थे. एमपी नगर थाने के टीआई होटल पहुचे तो गुणेकर बेहोशी की हालत में मिले. पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और जाल बिछाकर सिमरन को गिरफ्तार कर लिया.

फर्जी आधार कार्ड से बुक कराता था कमरे

एएसपी संजय साहू के मुताबिक आरोपी इतना शातिर है कि नींद की गोलियों का ऐसा डोज तैयार करता था जिससे उसका शिकार लगभग 24 घंटे तक बेसुध रहे. एक एमजी की नींद की 3 गोलियां कॉफी में मिलाकर शिकार को पिला देता था. शिकार 24 घंटे तक बेसुध रहता था और सिमरन शहर छोड़कर निकल जाता था. पुलिस के मुताबिक आरोपी ने पूछताछ में अपने पास 5 फर्जी आधार कार्ड होने की जानकारी देते हुए बताया है कि वह बारी-बारी से इनका इस्तेमाल कर होटलों में कमरे बुक कराता था. एएसपी ने बताया कि पुलिस की एक टीम उसके बताए पंजाब के पते पर भी रवाना की गई है.

Read more!

RECOMMENDED