साइबर क्राइम हब बन रहा गुरुग्राम, 30 से ज्यादा लोगों के साथ रोज हो रही ठगी

गुरुग्राम में पहला साइबर थाना मार्च 2018 में खोला गया था. यहां साल 2018 में 4620 शिकायतें आईं तो साल 2019 में 8912 जबकि 2020 में अब तक 312 लोगों के साथ ठगी हो चुकी है.

सांकेतिक फोटो
तनसीम हैदर
  • गुरुग्राम ,
  • 14 जनवरी 2020,
  • अपडेटेड 8:21 PM IST

  • साइबर थाने में डेढ़ साल में आईं 10 हजार से ज्यादा शिकायतें
  • पुलिस का दावा- 7700 शिकायतों का निपटारा हो गया है

साइबर सिटी गुरुग्राम अब साइबर क्राइम सिटी बनता जा रहा है. ये हम नहीं बल्कि गुरुग्राम साइबर थाने के आंकड़े कह रहे हैं. गुरुग्राम में हर रोज 30 से ज्यादा लोगों के साथ ऑनलाइन ठगी हो रही है. डेढ़ साल में अब तक साइबर थाने में 10 हजार से ज्यादा ऑनलाइन ठगी की शिकायतें आईं हैं.

2 करोड़ से ज्यादा की ठगी हुई

गुरुग्राम में पहला साइबर थाना मार्च 2018 में खोला गया था. यहां साल 2018 में 4620 शिकायतें आईं तो साल 2019 में 8912 जबकि 2020 में अब तक 312 लोगों के साथ ठगी हो चुकी है. इस तरह कुल अब तक 13844 शिकायतें आई हैं, जिसमें पुलिस ने 12 हजार से ज्यादा शिकायतों का निपटारा कर दिया है. वहीं, ठग अब तक 2 करोड़ से ज्यादा की ठगी कर चुके हैं.

2019 में 10 हजार  से ज्यादा शिकायतें आईं

पुलिस आंकड़ों की मानें तो साल 2019 में हर दिन 30 लोग पुलिस के पास ठगी की शिकायत लेकर पहुंचे थे. किसी को जालसाजों ने ऑनलाइन ठगा तो किसी को लॉटरी या जॉब का लालच देकर शिकार बनाया. हालांकि पुलिस का दावा है कि करीब 7700 शिकायतों का निपटारा कर दिया गया है. 2019 में कुल 118 शिकायतें पुलिस ने आईटी एक्ट के तहत दर्ज किए थे.

इस दौरान लॉटरी और जॉब के नाम पर फर्जीवाड़े के करीब 350 मामले सामने आए. वहीं, साइट के जरिए ठगी के लगभग 500 मामले पुलिस को मिले. फर्जी वेबसाइट बनाने के 138, हैकिंग के करीब 50, डेटा लीक के 80, पोर्न वीडियो और फोटो से छेड़छाड़ से जुड़ी करीब 100 से अधिक शिकायतें पुलिस को मिलीं थी.

ये सावधानियां बरतें...

कोई ऐप तुरंत एडवांस पेमेंट करने को कहे तो सतर्क हो जाएं

अपने खाते या मोबाइल वॉलेट की जानकारी किसी को न दें

मोबाइल वॉलेट ऐप में सिक्युरिटी ऑप्शन को ऑन रखें

मोबाइल पर मेसेज से आए लिंक पर क्लिक न करें

मोबाइल पर कोई ऐप किसी के कहने पर न डाउनलोड करें

Read more!

RECOMMENDED