नागरिकता बिल पर भड़के इमरान, बोले- ये भारत-PAK समझौतों का उल्लंघन

पाकिस्तान पहले ही जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने का विरोध कर रहा था, अब एक और फैसले के विरोध में उतर गया है. इमरान खान ने ट्वीट कर मोदी सरकार और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर निशाना साधा.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 10 दिसंबर 2019,
  • अपडेटेड 1:35 PM IST

  • नागरिकता बिल पास होने पर भड़का पाकिस्तान
  • पाकिस्तानी PM इमरान खान ने ट्वीट कर जताया विरोध
  • इमरान ने मोदी सरकार और RSS पर साधा निशाना

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट कर भारत की लोकसभा में पास हुए नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया है. पाकिस्तान पहले ही जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने का विरोध कर रहा था, अब एक और फैसले के विरोध में उतर गया है. इमरान खान ने ट्वीट कर मोदी सरकार और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर निशाना साधा. इमरान ने आरोप लगाया कि ये बिल दोनों देशों के बीच हुए समझौते के खिलाफ है.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट कर लिखा, ‘भारत की लोकसभा द्वारा जो नागरिकता बिल पास किया गया है, उसका हम विरोध करते हैं. ये कानून पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय समझौते और मानवाधिकार कानून का उल्लंघन करता है. ये राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के हिंदू राष्ट्र का एजेंडा है जिसे अब मोदी सरकार लागू कर रही है.’

बता दें कि इससे पहले भी पाकिस्तान विदेश मंत्रालय की ओर से बयान जारी कर इस बिल का विरोध किया गया था. पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि ये बिल दोनों देशों के बीच तमाम द्विपक्षीय समझौतों का पूरी तरह से उल्लंघन है और खासतौर पर अल्पसंख्यकों के अधिकारों और उनकी सुरक्षा के लिए चिंताजनक है.

इसे पढ़ें: नागरिकता बिल पर भड़का PAK, मुस्लिमों के बहाने मोदी सरकार को घेरा

भारत सरकार जो नागरिकता संशोधन बिल लाई है, उसके तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले हिंदू, बौद्ध, जैन, पारसी, सिख, ईसाई शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिलने में आसानी होगी. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की ओर से कहा गया है कि पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान के कानून में वह इस्लामिक देश हैं, इसलिए वहां मुस्लिम अल्पसंख्यक नहीं हैं. इसलिए उन्हें इस बिल में शामिल नहीं किया गया है.

अनुच्छेद 370 का भी किया था विरोध

ऐसा पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान की ओर से भारत के किसी फैसले पर इस प्रकार की आपत्ति हुई है. नागरिकता संशोधन बिल से पहले भारत की संसद ने अनुच्छेद 370 को हटाने का फैसला किया था, तब भी पाकिस्तान को आपत्ति हुई थी. पाकिस्तान ने अनुच्छेद 370 के मसले को अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र तक उठाया था हालांकि कूटनीतिक मोर्चे पर पाकिस्तान को हर जगह मात मिली थी.

Read more!

RECOMMENDED