लॉकडाउन में बढ़ी डिजिटल शिक्षा, छात्रों के बीच दिखा सकारात्मक असर

केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री महेन्द्र नाथ पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार डिजिटल इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा दे रही है ताकि कौशल विकास के साथ रोजगार को बढ़ावा मिल सके. कोरोना काल में इसका सकारात्मक असर दिखाई दे रहा है. अब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म डिजिविद्यापीठ पर छात्र पढ़ाई कर रहे हैं.

प्रतीकात्मक फोटो.
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 15 जून 2020,
  • अपडेटेड 8:00 PM IST

  • स्कूल कॉलेज के छात्र- छात्राएं अब ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं.
  • छात्रों का कहना है ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर पढ़ना सबसे आसान है .

कोरोना वायरस के इस दौर में छात्रों की पढ़ाई- लिखाई के तौर तरीकों में बदलाव आया है. स्कूल कॉलेज के छात्र- छात्राएं अब ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं. इसी कड़ी में डिजि विद्यापीठ के माध्यम से देश में डिजिटल शिक्षा को बढ़ावा देने की एक नई मुहिम शुरू की गई है.

इस बारे में केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री महेन्द्र नाथ पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार डिजिटल इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा दे रही है ताकि कौशल विकास के साथ रोजगार को बढ़ावा मिल सके. कोरोना काल में इसका सकारात्मक असर दिखाई दे रहा है. अब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म डिजिविद्यापीठ पर छात्र पढ़ाई कर रहे हैं.

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म डिजिविद्यापीठ को लेकर कई छात्रों ने रूचि भी दिखाई है. छात्रों का कहना है ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर पढ़ना सबसे आसान है . आप घर बैठे कई विषयों के बारे में आसानी से पढ़ सकते हैं .

कैसा है डिजि विद्यापीठ

बता दें कि डिजिविद्यापीठ एक ऐसा उपक्रम है जो युवाओं को अपनी क्षमता विकास के लिए ऑनलाइन प्लेटफार्म उपलब्ध कराता है. इसके जरिये तीन तरह के पाठ्यक्रम आरंभ किए गए हैं. एक डिजिटल मार्केटिंग, दूसरा पर्सनल फाइनेंस मैनेजमेंट तथा तीसरा सॉफ्ट स्किल जिसमें पर्सनालिटी डवलपमेंट शामिल है.

Read more!

RECOMMENDED