MP की पूर्व मंत्री बोलीं- क्या पुरुष इतने कमजोर कि उनके लिए सारे व्रत करना पड़े

मध्य प्रदेश की पूर्व मंत्री कुसुम महदेले ने सनातन धर्म में महिलाओं द्वारा पति और बच्चों की सलामती के लिए किए जाने वाले कई व्रतों को लेकर बड़ा सवाल उठाया है.

कुसुम महदेले (फाइल फोटो)
aajtak.in
  • भोपाल,
  • 17 अक्टूबर 2019,
  • अपडेटेड 7:38 PM IST

  • भाजपा की महिला नेता ने व्रत को लेकर सवाल उठाया
  • कहा- क्या पुरुष कमजोर हैं कि महिलाओं को व्रत करने होते हैं

मध्य प्रदेश की पूर्व मंत्री कुसुम महदेले ने सनातन धर्म में महिलाओं द्वारा पति और बच्चों की सलामती के लिए किए जाने वाले कई व्रतों को लेकर बड़ा सवाल उठाया है.

उनका कहना है कि क्या पुरुष इतने कमजोर हैं कि उनके लिए महिलाओं को व्रत करने होते हैं. करवा चौथ का व्रत गुरुवार को मनाया जा रहा है. महिलाएं अपने पति की दीर्घायु के लिए निर्जला व्रत रखती हैं.

इसी बीच पूर्व मंत्री कुसुम ने एक के बाद एक तीन ट्वीट किए हैं. उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'हिंदुस्तान में हिंदू महिलाएं बहुत सारे व्रत पति या पुत्र की आयु की रक्षा या आयु बढ़ाने के लिए करती हैं. क्या ये इतने कमजोर या असुरक्षित हैं.'

उन्होंने अन्य ट्वीट में लिखा, 'सारे व्रत, जैसे करवा चौथ, तीज, हरछठ, संतान साते, भाईदूज, बैठकी (नवदुर्गा) आदि कोई पति या भाई अपनी पत्नी के लिए नहीं करते.'

कुसुम ने आगे लिखा, 'सारे व्रत पुरुषों की सलामती के लिए हैं.'

Read more!

RECOMMENDED