दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को बताया भारत से अलग, उठे सवाल

दिल्ली सरकार की ओर से सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराया गया है. इसमें आवेदन के लिए पात्रता के कॉलम में नेपाल और भूटान के साथ सिक्किम को भी भारत से अलग दिखाया गया है.

विज्ञापन पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की भी तस्वीर (फाइल फोटोः PTI)
aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 23 मई 2020,
  • अपडेटेड 12:39 PM IST

  • नेपाल और भूटान के साथ अलग देश के रूप में किया उल्लेख
  • विज्ञापन पर छपी है मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तस्वीर

कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहे देश में दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन ने नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है. दिल्ली सरकार की ओर से समाचार पत्रों में प्रकाशित कराए गए एक विज्ञापन में सिक्किम को नेपाल और भूटान के साथ अलग देश के तौर पर भारत से अलग बताया गया है. अब दिल्ली सरकार के इस विज्ञापन को लेकर सवाल उठने लगे हैं.

बताया जाता है कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की ओर से सिविल डिफेंस के सदस्यों की भर्ती के लिए अखबारों में विज्ञापन प्रकाशित कराया गया है. इस विज्ञापन में आवेदन के लिए पात्रता के कॉलम में लिखा गया कि भारत का नागरिक हो या नेपाल, भूटान या सिक्किम की प्रजा हो. नेपाल और भूटान के साथ सिक्किम को भी भारत से अलग दिखाया गया है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

इस विज्ञापन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की फोटो भी छपी है. कोरोना वायरस से दिल्ली में हुई मौतों के मुद्दे पर विपक्ष के निशाने पर रही अरविंद केजरीवाल की सरकार ने विपक्ष को हमलावर होने का एक और मौका दे दिया है.

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

गौरतलब है कि साल 1975 में भारत का अंग बना सिक्किम, उत्तराखंड, झारखंड और छत्तीसगढ़ के गठन से पहले देश का सबसे नया राज्य हुआ करता था. बता दें कि दिल्ली सरकार ने सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स की भर्ती के लिए विज्ञापन निकाला है.

Read more!

RECOMMENDED