LJP के बदलते सुर पर पहली बार बोली BJP, कहा- हमारा गठबंधन अटूट है

संजय जायसवाल ने कहा, एनडीए में किसी तरह के आपसी विवाद होने की चर्चाएं बिल्कुल बेइमानी है. गठबंधन के तौर पर तीनों दलों की एकता पूरी तरह से अक्षुण्ण है और हम पूरी मजबूती से आगामी चुनाव एकसाथ मिलकर लड़ेंगे.

संजय जायसवाल
सुजीत झा
  • पटना,
  • 12 जुलाई 2020,
  • अपडेटेड 1:50 PM IST

  • बिहार में तीनों दल एक साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे- बीजेपी
  • बीजेपी ने कहा- गठबंधन में न तो आपसी मतभेद हैं और न ही मनभेद

लोक जनशक्ति पार्टी के बदलते सुर पर बीजेपी के प्रदेश नेतृत्व ने पहली बार अपनी प्रतिक्रिया दी है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने एनडीए गठबंधन को अटूट बताया है. उन्होंने कहा, 'एनडीए में किसी तरह के आपसी विवाद होने की चर्चाएं बिल्कुल बेइमानी है. गठबंधन के तौर पर तीनों दलों की एकता पूरी तरह से अक्षुण्ण है और हम पूरी मजबूती से आगामी चुनाव एकसाथ मिलकर लड़ेंगे.'

जायसवाल ने कहा, 'एनडीए, महागठबंधन नहीं है जहां केवल एक पार्टी की मर्जी से ही गठबंधन के नियम तय होते हैं. हमारे गठबंधन में लोकतंत्र है और सभी अपनी बातें और विचार रखने के लिए स्वतंत्र हैं. लेकिन एनडीए के तीनों दलों के लिए जनता का विकास ही प्रमुख है. हमारी नीतियां जनता के इर्द-गिर्द ही तय होती हैं. इसलिए हमारे गठबंधन में न तो आपसी मतभेद हैं और न ही मनभेद.'

विकास दुबे की काली कमाई पर चोट की तैयारी, करीबियों पर होगा मनी लॉन्ड्रिंग का केस

तीनों दल साथ मिलकर एक साथ चुनाव लड़ेंगे- बीजेपी

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, 'हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष पहले ही इस बात को साफ कर चुके हैं कि बिहार में तीनों दल एक साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे, जिसके बाद इस मुद्दे पर किसी तरह की चर्चा का कोई अर्थ ही नहीं निकलता. गठबंधन के तौर पर हमारे तीनों दलों का ध्येय बिल्कुल साफ है, हमारे निर्णयों में एकरूपता है, जो हमारे गठबंधन की एकता को दर्शाता है. बिहार का विकास ही हमारी पहली और आखिरी प्राथमिकता है. बिहार में जब भी चुनाव होंगे, एनडीए के तीनों दल एक साथ मिलकर, पूरी मजबूती से लड़ेंगे.'

राजस्थान में सरकार गिराने की साजिश के बीच कैबिनेट मीटिंग, नहीं पहुंचे पायलट

विपक्ष को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा, 'महागठबंधन के जिन दलों को एनडीए में आपसी विभेद दिखाई दे रहा है, उन्हें एक निगाह अपने घर में भी डाल लेनी चाहिए. जिस तथाकथित महागठबंधन में आज तक अपना मुखिया तय कर पाने तक की हिम्मत नहीं हो पाई है, उनके नेताओं द्वारा एनडीए पर की जा रही टिप्पणी हास्यास्पद है.'

Read more!

RECOMMENDED