गणपति बनाने की डिजिटल क्लास दे रहे राकेश बापट, निगेटिव रोल में आएंगे नजर

आज तक के साथ खास बातचीत में उन्होंने कहा, असल में बहुत सारे लोग मुझसे सीखना चाहते थे गणपति की मूर्ति बनाना. मुंबई में होता तो पॉसिबल था लेकिन अभी मैं पुणे में हूं.

राकेश बापट
साधना कुमार
  • मुंबई,
  • 12 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 6:55 PM IST

हर साल की तरह इस साल भी राकेश बापट गणपति की मूर्ति खुद अपने हाथों से ही बनाएंगे, जिसका शुभारंभ उन्होंने कर दिया है. लेकिन इस बार उन्होंने गणपति को आकार देने के साथ साथ लोगों को डिजिटली इसकी कोचिंग भी दी है. कोविड 19 के चलते और सोशल डिस्टेंसिंग को मेनटेन करते हुए राकेश ने कई लोगों को गणपति मूर्ति बनाना सिखाया.

आज तक के साथ खास बातचीत में उन्होंने कहा, "असल में बहुत सारे लोग मुझसे सीखना चाहते थे गणपति की मूर्ति बनाना. मुंबई में होता तो पॉसिबल था लेकिन अभी मैं पुणे में हूं. अपनी फैमिली के साथ क्योंकि इस सिचुएशन में यहां पर पापा का जो बिजनेस है उसे संभालना बहुत जरूरी था. तो यहां से मैं ऑनलाइन ट्यूटोरियल के जरिए जितनी मदद कर सकता हूं लोगों की वो कर रहा हूं. हमारी एक NGO भी है 'श्यामची आई फाउंडेशन' करके उसके डेवलपमेंट के लिए भी हम काम कर रहे हैं."

राकेश ने बताया, "जितना भी पैसा इस ट्यूटोरियल से आएगा वो सब इसकी फंडिंग में जाएगा. ये पेयबल है तो, जो जूम वेबिनार होता है उस पर किया है हमने. जिन लोगों ने अपना स्लॉट बुक किया उनको एक लिंक दिया गया. जब वो लिंक खोलेंगे तो मैं दिखूंगा सिखाते हुए."

उन्होंने कहा, "सच कहूं तो अभी हम (राकेश और उनके दोस्त) इतने टच में नहीं हैं क्योंकि अभी सभी अपनी-अपनी फैमिली के साथ हैं. अभी तक तो मेरी बात नहीं हुई ऋत्विक से लेकिन मुझे लगता है वो भी गणेश अपने घर पर ही बनाएगा. क्योंकि दो महीने पहले हमने बात की थी तब डिस्कस किया था कि इस बार साथ में गणपति बनाना नहीं हो पाएगा. मैं यहां पुणे में हूं, वो मुंबई में हैं. मुझे लगता है जो जहां है वहां सुरक्षित रहकर अपने घर पर ही गणपति बनाए."

राकेश ने कहा कि असल में इस बार गणपति फेस्टिवल बहुत ही प्राइवेट अफेयर होने वाला है. पहले हम दोस्तों के घर जाते थे, एक दूसरे को बधाइयां देते थे, गणपति से आशीर्वाद लेते थे. पर अभी वो सब नहीं होने वाला क्योंकि इस बार गणपति सिर्फ और सिर्फ आपके और आपके परिवार के लिए ही आने वाले हैं. कहीं ना कहीं मुझे अच्छा भी लग रहा है क्योंकि उनके साथ पर्सनल समय बिताने का मौका मिलेगा.

उन्होंने ये भी कहा, "कोविड 19 के चलते सबकी जिंदगी में बदलाव आ गए हैं. पता नहीं जिंदगी वापस पहले जैसी नॉर्मल कब होगी. अब इसी न्यू नॉर्मल की आदत हो जानी चाहिए. इस सिचुएशन को ही अब नॉर्मल बनाना है. कोई भी नया काम करने से पहले हम श्री गणेश करते हैं तो अब हमें इस सिचुएशन का श्री गणेश करके अच्छी चीजों की शुरुआत करनी चाहिए. मुझे लगता है कि अब ये वायरस सेल्फ म्यूटेट होने के दायरे पर है तो सकता है गणेश जी आएंगे और प्रे करें कि ये सब जल्द से जल्द निकल जाए और सबकी जिंदगी वापस नॉर्मल हो जाए. सब लोग फिर से अच्छा काम करना शुरू करें."

संजय दत्त की तबीयत पर बोलीं मान्यता- संजू फाइटर है, ये वक्त भी गुजर जाएगा

सड़क 2 ट्रेलर फैंस को नहीं आया पसंद, सोशल मीड‍िया पर ट्रोल हो रहीं आलिया

राकेश बापट के आने वाले प्रोजेक्ट

अपने नए प्रोजेक्ट्स के बारे में बताते हुए राकेश ने कहा, "अभी फिलहाल तो मैं पुणे में अपने फैमिली बिजनेस को संभाल रहा हूं. एक हिस्टॉरिकल फिल्म की है मैंने मराठी में, पहली बार मैं नेगेटिव लीड कर रहा हू्ं उसमें. वो फिल्म जून में रिलीज होने वाली थी लेकिन इस लॉक डाउन के चलते और सिचुएशन को देखते हुए अब अगले साल ही रिलीज होगी. एक वेब सीरीज भी जो मैं करने वाला हूं लेकिन हम इंतजार कर रहे हैं लाइफ के नॉर्मल होने का. सबकी शूटिंग्स अच्छे से शुरू हो जाए, क्योंकि 10 साल से कम उम्र के बच्चे शूट नहीं कर सकते और मेरी उस वेब सीरीज में बहुत सारे बच्चे हैं तो इसीलिए शूट डिले हो रहा है."

Read more!

RECOMMENDED