झारखंड चुनाव को लेकर BJP की बैठक, उम्मीदवारों के नाम पर लगेगी मुहर

झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी. बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई नेता मौजूद रहेंगे. 

झारखंड में बीजेपी फिर से चुनाव जीतने की कोशिश में जुट गई है (फाइल-IANS)
हिमांशु मिश्रा
  • नई दिल्ली,
  • 07 नवंबर 2019,
  • अपडेटेड 5:14 PM IST

  • BJP के केंद्रीय चुनाव समिति की शनिवार को बैठक
  • बैठक में पार्टी के उम्मीदवारों का हो सकता है चयन

झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर शनिवार (9 नवंबर) को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी. माना जा रहा है कि इस बैठक में पार्टी के उम्मीदवारों के नाम पर मुहर लगाई जाएगी. राज्य में चुनावी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और पहले चरण के मतदान के लिए नामांकन भी शुरू हो गया है.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक शाम 6.30 बजे होगी. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, नितिन गड़करी, राजनाथ सिंह, थावरचंद गहलोत, बीजेपी के संगठन महासचिव बीएल संतोष, शाहनवाज हुसैन मौजूद रहेंगे. इसमें झारखंड विधानसभा चुनाव में पार्टी के उम्मीदवारों के नाम पर मुहर लगाई जाएगी.

नामांकन प्रक्रिया शुरू

इससे पहले नक्सल से प्रभावित राज्य झारखंड में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. राज्य के पहले चरण का चुनावी संग्राम नक्सल प्रभावित इलाकों में होगा. राज्य के पहले चरण की 13 विधानसभा सीटों के लिए नामांकन की प्रक्रिया बुधवार से शुरू हो गई, जो 13 नवंबर तक जारी रहेगी.

नामांकन-पत्रों की जांच 14 नवंबर को होगी और 16 नवंबर तक उम्मीदवारी वापस ली जा सकती है. पहले चरण की सीटों पर 30 नवंबर को वोटिंग होगी और नतीजे 23 दिसंबर आएंगे.

झारखंड के पहले चरण में चतरा, गुमला, बिशुनपुर, लोहरदगा, मनिका, लातेहार, पांकी, डालटेनगंज, विश्रामपुर, छत्तरपुर, हुसैनाबाद, गढ़वा और भवनाथपुर विधानसभा सीटों पर मतदान होगा. इस चरण में झारखंड के उत्तर छोटा नागपुर इलाके की विधानसभा सीटें भी शामिल हैं.

पहले चरण के चुनाव में रामचंद्र चंद्रवंशी, सुखदेव भगत, राधाकृष्ण किशोर, शिवशंकर उरांव, चमरा लिंडा, केएन त्रिपाठी, भानु प्रताप शाही, गिरिनाथ सिंह और सत्येंद्र नाथ तिवारी जैसे दिग्गज नेताओं के बीच सियासी संग्राम देखने को मिलेगा.

Read more!

RECOMMENDED