Pay Later का मजा बन न जाए सजा! ध्यान रखें 

By: Meenakshi Tyagi 24th October 2021

फेस्टिव सीजन में अक्सर बड़े सामानों की खरीदारी EMI पर की जाती है. इसके लिए कई ऑप्शन मौजूद हैं, जिनमें Buy Now Pay Later भी है. 

Buy Now Pay Later एक तरह का लोन ही होता है जिसमें ग्राहकों को एक तय अवधि में इसकी EMI चुकाने का ऑप्शन चुनना होता है. 

जब भी कोई ग्राहक Pay Later ऑप्शन चुनता है, तो आम तौर पर ये पेमेंट No Cost EMI के रूप में होता है.

अगर आप Buy Now Pay Later ऑप्शन चुनने जा रहे हैं तो सबसे पहले आपको उस पर लगने वाले ब्याज के बारे में जानकारी लेनी चाहिए. 

कई बार ये Zero Cost पर भी मिलता है. ब्याज फ्री लोन की अवधि 15 से 30 दिन होती है और उसके बाद आपको ईएमआई में पेमेंट देना होता है.

Pay Later में अगर आप समय पर किस्त नहीं चुकाते हैं तो आपको 500 से 1000 रुपये तक की लेट फीस के साथ 2.5% मासिक तक ब्याज देना पड़ सकता है. 

कई बार सामान पसंद नहीं आने पर रिटर्न भी करना होता है. अगर आपने Pay Later ऑप्शन लिया है तो कई बार इसके रिफंड में दिक्कत आ सकती है. 

बड़े लोन लेने के लिए CIBIL के क्रेडिट स्कोर की जरूरत पड़ती है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, को इस तरह का लोन लेने से पहले पूरी परख करनी चाहिए. 

अक्सर देखने को मिलता है कि लोग बिना जरूरत के ही Buy Now Pay Later की फैसिलिटी ले लेते हैं. 

ऐसे में इस फैसिलिटी के तहत जो राशि आपको एलॉट होती है वो असल में क्रेडिट लाइन का ही हिस्सा होती है. 

अगर आप इसे यूज नहीं करते हैं तो ये आपके क्रेडिट लाइन को घेरे रहकर कमजोर बनाती है. इसका सीधा असर आपके CIBIL Score पर पड़ता है.

यूटीलिटी की खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

Thanks For Reading!

Next: Maruti की नई SUV ग्रैंड विटारा की कितनी है कीमत?