scorecardresearch
 

किसी भी हाईवे पर नहीं हो सकती प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग, ये खासियत होना जरूरी

किसी भी हाईवे पर नहीं हो सकती प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग, ये खासियत होना जरूरी

पाकिस्तान बॉर्डर सिर्फ 40 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद National Highway 925A पर उतरते भारतीय लड़ाकू विमान देखकर आज पाकिस्तान डिप्रेशन में होगा क्योंकि जब हाईवे ही रनवे का काम भी करते हैं तो निश्चित ही दुश्मन थर्राते हैं. जालौर की हाइवे वाली इस हवाई पट्टी की कई विशेषताएं हैं और भारत के लिए इसका खास महत्व है. ये हवाई पट्टी भारत पाकिस्तान बॉर्डर के नज़दीक है. इसे इमरजेंसी ऑपरेशन्स में इस्तेमाल किया जा सकता है. भारत के पश्चिमी सेक्टर में ये सेना के लिए एक बड़ा रणनीतिक बूस्टर है. देखें ये रिपोर्ट.

Forty kilometres from the border with Pakistan, Sukhoi Su-30MKI fighter jets, transport aircraft of the Indian Air Force (IAF) landed on a national highway that doubles up as an emergency landing field. The IAF on Thursday carried out a demonstration on NH-925, at Gandhav Bhakasar section in Rajasthan’s Jalore, of how it would operate from the airstrip during a military emergency.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें