scorecardresearch
 

तंगी ऐसी कि सड़कों पर घर का सामान बेचने के लिए मजबूर हुए अफगान

तंगी ऐसी कि सड़कों पर घर का सामान बेचने के लिए मजबूर हुए अफगान

अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ गुस्सा बढ़ता जा रहा है. जानकारों के मुताबिक ये गुस्से की महज शुरूआत है. हालात और बिगड़ सकते हैं. एक महीने के भीतर अफगानिस्तान की आर्थिक स्थिति बदहाल हो चुकी है. लोगों के पास नौकरी नहीं, पैसे नहीं हैं. लोग अपना घरेलू सामान बेचने के लिए मजबूर हो रहे हैं. काबुल में एक महीने बाद तस्वीरें तो कुछ बदली हैं लेकिन अफगानियों की किस्मत नहीं बदली. काबुल की सड़कों पर तालिबानी गार्ड पूरे शहर में तैनात हैं. गाड़ियों की आवाजाही सामान्य नजर आ रही है लेकिन सड़कें हों या बाजार भीड़ या रौनक कहीं नजर नहीं आ रही है. लोगों के पास काम नहीं और हर कोई अपने भविष्य को लेकर परेशान है. देखें ये वीडियो.

After the Taliban control in Afghanistan, the people who remained are resorting to desperate measures, as household items are going up for sale on roadsides around the country. Everything has become so miserable for the Afghan people. Many people are selling off whatever valuables they have. For some, it is about survival, earning enough to feed their families each day. Others will use the money to flee their homeland and its new fundamentalist rulers. People are without jobs and money and are desperate for help. They do not have enough option than this. Many Afghans stand along dusty roadsides in the capital, Kabul, desperately trying to sell their meager possessions. Many are seen selling tattered mattresses and old rugs or hope someone will buy their television or refrigerator Watch this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें