scorecardresearch
 

अमेरिका में पहली कोरोना वैक्सीन नर्स को दी गई, ट्रंप ने ट्वीट कर दी बधाई

वैक्सीन की पहली डोज न्यूयॉर्क की एक नर्स को दी गई है. कोरोना वैक्सीनेशन का यह कार्यक्रम लाइव टीवी पर भी दिखाया गया.

अमेरिका में एक नर्स को दी गई कोरोना की पहली वैक्सीन अमेरिका में एक नर्स को दी गई कोरोना की पहली वैक्सीन
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमेरिका में सोमवार से शुरू हुआ वैक्सीनेशन
  • एक नर्स को दिया गया कोरोना वैक्सीन
  • लाइव टीवी पर दिखाया गया वैक्सीनेशन

अमेरिका में सोमवार को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दे दी गई है. वैक्सीन की पहली डोज न्यूयॉर्क की एक नर्स सैंड्रा लिंडसे को दी गई है. कोरोना वैक्सीनेशन का यह कार्यक्रम लाइव टीवी पर भी दिखाया गया. कोरोना की वैक्सीन लेने के बाद नर्स ने कहा, 'मैं आज काफी आशावान और राहत महसूस कर रही हूं. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी ट्वीट कर अपनी खुशी जाहिर की है. उन्होंने बताया कि अमेरिका में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज दे दी गई है. 

ट्रंप ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'मुबारक हो अमेरिका. पहली वैक्सीन की डोज दे दी गई है. मुबारक पूरी दुनिया को.' 

बुधवार को कोरोना वायरस से रिकार्ड 3263 लोगों की मौत के बाद अमेरिकी प्रशासन हरकत में आई और फाइजर और बायोएनटेक के कोविड-19 वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को हरी झंडी मिली. अमेरिका रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र की टीकाकरण से जुड़ी समिति ने शनिवार को 16 साल और इससे ज्यादा उम्र के लोगों को टीका देने के समर्थन में मतदान किया.

अमेरिका की दवा निर्माता कंपनी फाइजर ने बहुप्रतिक्षित कोविड-19 के टीकों की पहली खेप मिशिगन गोदाम से रवाना कर दी है. अमेरिका में इस टीके को हाल में मंजूरी दी गई है और कोविड-19 के टीके लगाए जाने के साथ ही अमेरिका के इतिहास में सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई. 

मिशिगन स्थित फाइजर की निर्माण इकाई से कोविड-19 टीकों की पहली खेप को ट्रकों में भरकर रवाना किया गया. ये खेप पहले से तय 636 स्थानों पर पहुंचाई जाएगी. अमेरिका खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने इस टीके के आपात इस्तेमाल की शुक्रवार को मंजूरी दे दी थी. 

देखें: आजतक LIVE TV

अमेरिका में कोविड-19 का यह टीका ऐसे समय में उपलब्ध हुआ है, जब संक्रमण की वजह से अस्पताल में भर्ती लोगों की संख्या सर्वाधिक है. अभी सर्दी की छुट्टियां होनी हैं और ऐसे में विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि बड़ी आबादी को टीका लगने से पहले तक स्थिति खराब ही बनी रहने की आशंका है. 

अमेरिका कोरोना वायरस से प्रभावित होने वाले दुनिया के शीर्ष देशों में से एक है. कोरोना जैसी महामारी की चपेट में आने से वहां लाखों लोगों की मौत हो चुकी है. अब अमेरिकी सरकार लोगों को इससे बचाने के लिए बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन की शुरुआत की है. 

वैक्सीन के वितरण योजना से जुड़े दो अधिकारियों ने कहा कि व्हाइट हाउस के कर्मचारी जो राष्ट्रपति ट्रंप के साथ काम करते हैं, उन्हें बताया गया है कि उन्हें जल्द ही कोरोना वायरस वैक्सीन के इंजेक्शन दिए जाएंगे. वो भी ऐसे समय में जब वैक्सीन की पहली खुराक केवल उच्च जोखिम वाले स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों के बीच वितरित करने की योजना है.

राष्ट्रपति आवास में काम करने वाले एक अधिकारी ने बताया कि वेस्ट विंग के अंदर वैक्सीन वितरित करने का लक्ष्य सरकारी अधिकारियों को ट्रंप प्रशासन के अंतिम हफ्तों में बीमार पड़ने से रोकना है. उम्मीद है कि अंततः व्हाइट हाउस में काम करने वाले सभी लोगों को टीका लगाया जाएगा जिसकी शुरुआत सबसे वरिष्ठ लोगों से होगी. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें